JamshedpurJharkhand

जमशेदपुर में बढ़ते अपराध व नशे के कारोबार पर भाजपा ने खोला मोर्चा, सभी थानों में ज्ञापन सौंप दिया अल्टीमेटम

लौहनगरी बन रही अपराध नगरी, संज्ञान ले प्रशासन, नहीं तो करेंगे आंदोलन: गूंजन यादव

Jamshedpur: जमशेदपुर में अपराध का ग्राफ प्रतिदिन बढ़ रहा है. प्रतिदिन शहर के किसी न किसी क्षेत्र में हो रहे हत्या, चोरी, छिनतई, अपहरण, दुष्कर्म एवं रंगदारी की घटनाओं से शहरवासी भयाक्रांत हैं. हाल के दिनों में शहर में नशे का कारोबार भी तेजी से फल-फूल रहा है, जिससे युवा पीढ़ी नशे की गिरफ्त में आने लगे हैं. शहर में चिंता का विषय बन चुके इन समस्याओं पर सूबे की मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. बुधवार को जमशेदपुर महानगर अंतर्गत सभी थाना क्षेत्रों में मंडल अध्यक्ष के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने थाना प्रभारी को ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन सौंपकर 10 दिनों के भीतर आवश्यक कार्रवाई करने की मांग की गई.

इसे भी पढ़ें : खेल, खिलाड़ियों के लिए बनाया जा रहा आदर्श माहौल, नौकरी के अलावे इलाज का जिम्मा लेगी सरकार: हेमंत सोरेन

ram janam hospital
Catalyst IAS

सीतारामडेरा थाना में भाजपा महानगर अध्यक्ष गूंजन यादव की उपस्थिति में कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपा. इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष गूंजन यादव ने बताया कि जमशेदपुर झारखंड की औद्योगिक राजधानी है. औद्योगिक शहर होने के कारण यहां मजदूरों की संख्या भी बहुतायत में है. विगत कुछ माह से शहर में बढ़ते अपराध, चोरी, छिनतई, ब्राउन शुगर एवं नशे के कारोबार के कारण इस शांतिप्रिय शहर की छवि धूमिल हो रही है. अब शहर की पहचान लौहनगरी से हटकर अपराध नगरी के रूप में होने लगी है.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

उन्होंने कहा कि शहर में ब्राउन शुगर, स्मैक एवं अन्य नशे का कारोबार युवाओं को तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा है. जिससे युवाओं का भविष्य अंधकारमय हो रहा है. शहर में लगातार दिनदहाड़े चोरी और छिनतई की घटनाएं हो रहीं है. चोरों का हौसला इतना बढ़ गया है कि वे बैखोफ होकर भगवान के मंदिरों पर भी हाथ साफ कर रहें है. शहर में इंसान तो इंसान भगवान भी सुरक्षित नहीं है. बताया कि इन सब विषयों को लेकर महनागर के सभी थाना में मंडल अध्यक्ष के अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपा है. अगर दिए गए समयावधि पर आवश्यक संज्ञान नहीं लिया जाता है तो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता कोविड नियमों को ध्यान में रखकर आंदोलन की रणनीति तय करेंगे और उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे.

मंडल अध्यक्ष के नेतृत्व में सभी मंडलों में दिया ज्ञापन

सीतारामडेरा- सुरेश शर्मा, बारीडीह- संतोष ठाकुर, साकची पुर्वी- ध्रुव मिश्रा, गोलमुरी- अजय सिंह, बिरसानगर- बबलू गोप, टेल्को-हेमंत सिंह, बर्मामाइंस- दीपक झा, बिस्टुपुर- संजय तिवारी, कदमा- राजेश सिंह, सोनारी-प्रशांत पोद्दार, साकची पश्चिम- बरजंगी पांडेय, मानगो- विनोद राय, उलीडीह- अमरेंद्र पासवान, आजादनगर- फातिमा शाहीन, बागबेड़ा- संजय कुमार सिंह, घाघीडीह- संदीप शर्मा बॉबी, सुंदरनगर- चंचल चक्रवर्ती, कोवाली- रविन्द्र नाथ सरदार, आसनबनी- हलदर दास, पोटका- सुदीप कुमार डे, जुगसलाई- हेमेंद्र जैन, परसुडीह- त्रिदेव चटराज, घोड़ाबांधा- दीपक पॉल, गोविंदपुर- पवन सिंह, एमजीएम- सुनील सिंह मुंडा, बोड़ाम- शांतनु मुखर्जी, पटमदा- मंटू चरण दत्ता एवं कमलपुर में प्रधान महतो के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया.

इसे भी पढ़ें : राज्यसभा हार्स ट्रेडिंग मामलाः ADG अनुराग गुप्ता के खिलाफ पीड़क कार्रवाई पर छह सितंबर तक रोक बरकरार

Related Articles

Back to top button