JamshedpurJharkhand

छात्रों की मारपीट से आंखों की रोशनी गंवाने वाले रौशन के साथ एसएसपी से मिलने पहुंचे भाजपा नेता, दोषियों पर कार्रवाई की मांग

Jamshedpur : जमशेदपुर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज के छात्रों द्वारा विगत दिनों रोशन रजक के साथ मारपीट की गयी थी. इस मामले में दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर मंगलवार को रौशन अपने परिजनों और भाजपा नेता विकास सिंह के साथ एसएसपी से मिलने पहुंचा. उन्होंने एसएसपी से मामले की लिखित शिकायत भी की है.

आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई, तो करेंगे आंदोलनः विकास

रौशन के भाई सूरज रजक ने बताया कि घटना के बाद वे अपने भाई का इलाज कराने कोलकाता लेकर गये थे. जहां 12 मई को इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया. डॉक्टरों ने बताया कि रौशन का बायां आंख पूरी तरह से खराब हो गया है. उन्होंने बताया कि अबतक इलाज में एक लाख से ज्यादा खर्च हो चुका है. डॉक्टर उसे इलाज के लिए चेन्नई लेकर जाने को कह रहे है. वहीं भाजपा नेता विकास सिंह ने बताया कि अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है. अगर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई, तो वे आंदोलन करेंगे.

Chanakya IAS
Catalyst IAS
SIP abacus

क्या है पूरा मामला

The Royal’s
MDLM
Sanjeevani

बता दे कि 9 मई को रौशन सुबह घर से टहलने के लिए निकला था. एमजीएम कॉलेज के मुख्य द्वार के सामने काले रंग की कार पर सवार चार लड़के गोकुल नगर के व्यक्ति की पिटाई कर रहे थे. वह मौके में पहुंचकर व्यक्ति को बचाने लगा. चारों लड़के नशे में धुत थे. चारों ने उसपर हमला कर दिया और बीयर के बोतल से जमकर पिटाई कर दी. बीयर के बोतल से रौशन के आंख पर जोर से वार कर दिया, जिससे रौशन रजक के दोनों आंखों की रोशनी चली गयी. रौशन का एक छोटा बच्चा है. रौशन चालक का काम कर पूरे परिवार का भरण-पोषण करता था. वहीं आंखों की रोशनी चलें जाने के कारण रौशन पूरी तरह बेरोजगार हो गया है. साथ ही इलाज के लिए भी पैसे नहीं हैं. चारों लड़के मेडिकल कॉलेज के छात्र बताए जा रहे है.

ये भी पढ़ें- चक्रधरपुर : हिंदू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी के आरोपियों पर नहीं हुआ केस, विरोध में बाजार बंद, अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात

Related Articles

Back to top button