GarhwaJharkhand

मंत्री मिथिलेश के खिलाफ भाजपा नेताओं ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन, पद का दुरुपयोग करने का लगाया आरोप

Garhwa : राज्य के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री सह गढ़वा के विधायक मिथिलेश ठाकुर के खिलाफ भाजपा नेताओं का आंदोलन अब राजधानी रांची पहुंच गया है.

शुक्रवार को मंत्री पर स्थानीय पदाधिकारियों को धमका कर असंवैधानिक कार्य करने पर मजबूर करने का आरोप लगाकर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को ज्ञापन सौंपा गया.

ज्ञापन के माध्यम से भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया है कि स्थानीय विधायक सह मंत्री एक संवैधानिक पद पर रहकर असंवैधानिक कृत्य उनके द्वारा किया जा रहा है. उससे गढ़वा जिलावासी काफी आहत हैं.

advt

इसे भी पढ़ें :तीन अनुमंडल पदाधकारियों का तबादला, जानिए कौन कहां से कहां गये

हाल ही में गढवा शहर के अंदर एक पार्क, जो आजादी के बाद पहला पार्क का निर्माण किया गया था और रघुवर जी की सरकार में सुंदरीकरण लगभग एक करोड़ की लागत से कराया गया था, परंतु मंत्री बिना किसी आदेश के वहां पर निर्मित फव्वारा एवं अन्य कार्य को गैर कानूनी ढंग से तोड़ दिया.

पता करने पर उपायुक्त से जानकारी प्राप्त हुई कि मंत्री अपने पिता जी को स्वतंत्रता सेनानी बताकर मूर्ति लगाने के काम कर रहे हैं. इस कार्य के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है. हम लोगों ने जब जांच की बात कही तो उन्होंने कहा कि मैं एक कमेटी बनाकर इसकी जांच करा रहा हूं.

हम लोगों ने उनसे मांग की कि जब तक यह स्पष्ट नहीं होता है कि मंत्री के पिताजी स्वतंत्रता सेनानी थे या नहीं और किसके आदेश से यह सरकारी पैसे से निर्मित सार्वजनिक पार्क में बने हुए फव्वारा एवं अन्य निर्माण को तोड़कर के फेंका गया.

इसे भी पढ़ें :अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए खेत में उतरने का नौटंकी कर रही भाजपाः झामुमो

क्षति पहुंचायी गयी. उसे सार्वजनिक करने तक उस कार्य को रोक दिया जाए. परंतु वहां के स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत से न तो यह मामले को सार्वजनिक किया गया और ना ही कार्य को रोका गया.

मंत्री के द्वारा वहां पर अपना लठयत बैठा कर असंवैधानिक कार्य जारी रखा गया है और वहां की स्थानीय प्रशासन मुख दर्शक बनकर यह कुकृत्य में शामिल है. मांग की गयी है कि मंत्री के द्वारा असंवैधानिक कार्य को तत्काल रोका जाए.

उसकी जांच करा कर इसमें संलिप्त जो भी स्थानीय प्रशासन के पदाधिकारी हैं. उन पर कार्रवाई हो. भाजपा नेताओं ने यह भी कहा कि गढ़वा जिला के जो स्वतंत्रा सेनानी हैं. उन्हें अपमानित किया जा रहा है. इस तरह के मंत्री को ऐसे पद पर रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है. उन्हें जल्द से जल्द बर्खास्त किया जाए.

प्रतिनिधिमंडल में भाजपा के गढ़वा जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश केशरी, भाजा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और निवर्तमान विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी, पूर्व मंत्री व भाजपा के अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष चंदनकियारी के विधायक अमर कुमार बावरी, गढ़वा जिला के संगठन के प्रभारी सह प्रदेश प्रवक्ता अमित कुमार, पाटी के पूर्व प्रदेश महामंत्री सह पूर्व लोकसभा प्रत्याशी श्री जवाहर पासवान शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :रांची सदर समेत 12 जिलों के अस्पतालों में लगेंगे एचआरसीटी, एमआरआई और कीमो एनालाइजर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: