न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

BJP नेता कांग्रेस से दोगुना 20 हेलीकॉप्टर और 12 बिजनेस जेट से करेंगे चुनावी कैंपेन

कांग्रेस ने हायर किये 10 हेलीकॉप्टर और चार बिजनेस जेट

171

New Delhi : लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी ने विमान और हेलीकॉप्टरों को किराये पर लिया है. यूं तो विमान और हेलीकॉप्टर चुनाव के लिए किराए पर लेना कोई आश्चरय की बात नहीं है. लेकिन इस बार के चुनावों के लिए बीजेपी ने अब तक के इतिहास में सबसे ज्यादा विमानों का बेड़ा किराए पर लिया है.

गौरतलब है कि बीजेपी ने 20 हेलीकॉप्टर व 12 बिजनेस जेट का बेड़ा किराए पर लिया है. जबकि कांग्रेस ने बीजेपी से आधा यानि कि 10 हेलीकॉप्टर व चार बिजनेस जेट ही किराये पर लिया है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें – झारखंड कांग्रेस : रांची से सुबोधकांत, सिंहभूम से गीता कोड़ा और लोहरदगा से सुखदेव भगत लड़ेंगे चुनाव

किस विमान पर कितना लग रहा किराया

विमानों को किराये पर लेनाएक उच्च लागत वाला व्यवसाय है और बीजेपी ने अधिक महंगे विकल्प को चुना है. पार्टी ने Cessna Citation XLS नाम के बीजनेस जेट को किराए पर लिया है जिसका हर घंटे के हिसाब से 2,80,000 किराया बनता है. वहीं विमान Ealcon 4000 का किराया प्रति घंटे 4,00,000 रुपये होते हैं. बीजेपी ने हेलीकॉप्टर के बेड़ा के लिए कुछ मशीनों को भी किराए पर लिया है, जिसमें Bell 412, Agusta 109, Agusta 139 शामिल हैं. 

इसे भी पढ़ें – अनुराग गुप्ता के बाद कई IAS और IPS अधिकारी निर्वाचन आयोग के रडार पर, मांगी रिपोर्ट

कांग्रेस ने किन विमानों को किराए पर लिया

वहीं अगर कांग्रेस की बात करें तो पार्टी ने Cessna Citation Jet 2 को किराये पर लिया है जिसका प्रति घंटे के हिसाब से 1,80,000 किराया बनता है. Cessna Citation Excel का 2,80,000 और Falcon का 40000 किराया बनता है. पार्टी ने जो हेलीकॉप्टर किराए पर लिया है वो सिंगल इंजन वाले bell 407 व Eurocopter D3 हैं जिसका किराया एक लाख रुपया प्रति घंटा है. साथ ही Bell 412 और Agusta जैसे डबल इंजन हेलीकॉप्टर भी किराए पर लिया है.

WH MART 1

इसे भी पढ़ें – कांग्रेस जब-जब सत्ता में आती है, शासन उल्टी दिशा में चलने लगता है : मोदी

क्या कहना है विमानन विभाग के अधिकारी का

अगर पहले के रिकॉर्ड को देखा जाए तो बीजेपी ने हमेशा ही कांग्रेस से ज्यादा विमान किराए पर लिए हैं. हालांकि भगवा पार्टी के पास ज्यादा वरिष्ट मंत्री हैं जिन्हें पार्टी की ओर से हेलीकॉप्टर और जेट विमान दिए जाते हैं.

विमानन विभाग से जुडे़ एक अधिकारी ने कहा कि हालांकि ज्यादा विमान किराए पर लेने के बावजूद भी दाम में बढ़ोतरी नहीं हुई है क्योंकि दूसरी पार्टियों ने काफी कम विमान किराए पर लिए हैं.

अधिकारी ने यह भी बताया कि 2014 में कांग्रेस और दूसरी पार्टियों ने विमान किराए पर लिए थे जिसकी वजह से मांग और दाम दोनों में बढ़ोतरी हुई थी. लेकिन इस बार ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सोरेन का स्थायी पता पूछनेवाली बीजेपी पर जेएमएम का पलटवार, कहा ‘खौफ में भाजपा नेता, कर रहे मूर्खतापूर्ण सवाल’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like