न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाजपा नेता दिनेश पटेल हत्याकांड का आरोपी बदनू उरांव गिरफ्तार

अवैध खदान को लेकर हुई थी भाजपा नेता की हत्‍या : एसपी

eidbanner
585

Sahibganj : साहेबगंज पुलिस ने भाजपा नेता सह पत्‍थर व्‍यावसायी दिनेश पटेल हत्‍याकांड का खुलासा कर दिया है. 26 अक्‍टूबर को भाजपा नेता दिनेश पटेल की हत्‍या कर दी गयी थी. साहेबंगज एसपी ने प्रेसवर्ता कर यह जानकारी दी. एसपी ने बताया कि भाजपा नेता हत्‍याकांड में शामिल मुख्‍य अभियुक्‍त बदनू उरांव को अदरो गांव से गिरफ्तार किया गया है. आरोपी के पास से एक देशी कट्टा और कारतूस बरामद किया गया है.

रास्‍ते को लेकर हुआ था विवाद

एसपी एचपी जनार्दन ने बताया कि हत्‍या का मुख्‍य कारण अवैध खदान है. अब्दुला, दिनेश सिंह, राजकुमार मुंडा  और बदनु उरांव अवैध खदान चलाते थे. जिसे भाजपा नेता ने लीज पर लेकर करार अपने नाम पर कर लिया था. वे अपने इलाके में किसी को काम नहीं करने देते थे. इसी बीच अब्दुला ने दिनेश पटेल के क्रशर के बगल ने ईंट बनाने की फैक्ट्री खोला. जिसमें रास्ते को लेकर इमरान, बदनू उरांव और अब्दुला के साथ दिनेश पटेल का विवाद हुआ था. इसी कारण दिनेश पटेल की हत्या कर दी गयी.

कैसे हुआ खुलासा

एसपी ने बताया कि मृतक के भाई संजय पटेल ने चार नामजद और एक अज्ञात के विरूद्ध जीरवाबाड़ी ओपी थाना में प्राथमिकी दर्ज करवाई थी. प्राथमिकी में बदनू उरांव, राजकुमार मुंडा, अब्‍दुला, सुरेश साह और एक अन्‍य को आरोपी बनाया था. एसपी साहेब ने बताया कि अनुसंधान के क्रम में अज्ञात व्यक्ति  की पहचान चानन निवासी बबलू मंडल के रूप में हुई. उक्त कांड के सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के लिए अनुमंडल पुलिस पुलिस पदाधिकारी नवल शर्मा नेतृत्व में एक स्पेशल टीम बनायी गयी. स्पेशल टीम के द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए अदरो गांव के पास से कांड का मुख्य अभियुक्त बदनू उरांव को गिरफ्तार किया गया. आरोपी ने पुलिस के सामने अपना गुनाह कबूल कर लिया.

Related Posts

पलामू के हरिहरगंज थाने पर हमले का आरोपी ईनामी नक्सली गिरफ्तार

झारखंड-बिहार में दर्ज हैं कई आपराधिक मामले

टीम में शामिल थे ये पुलिसकर्मी

नवल शर्मा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, पुलिस निरक्षक राम सागर तिवारी, पुलिस अवर निरक्षक रामानुज वर्मा, विनोद तिर्की थाना प्रभारी रंगा, ऋषिकेश राय थाना प्रभारी मिर्जा चौकी, केदार सिंह थाना प्रभारी जीरवाबाडी ओपी व थाना के शस्त्र बल शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंःहाइकोर्ट भवन निर्माण मामलाः 15 दिनों से सीएमओ में दबी है 697.32…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: