न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ई रिक्शा चालक संघ के समर्थन में उतरे भाजपा नेता भृगुनाथ भगत, कहा- अत्याचार का होगा विरोध

ये समाज की मुख्य धारा से भटक कर भ्रष्टाचार की राह अपना लेंगे. इसपर जिला प्रशासन एवं पुराना बाजार चैंबर को भी विश्लेषण करने की जरूरत है.

173

Dhanbad : पुराना बाजार स्थित टेम्पल रोड में टोटो चालकों की समस्याओं के समाधान के लिए तथा ई-रिक्शा चालकों को इन्साफ दिलाने के लिए भाजपा नेता भृगुनाथ भगत ने कमर कस ली है. भृगुनाथ भगत ने कहा कि ई-रिक्शा खरीदने या बैंको से ऋण के रूप में निकालने के लिए लगभग 1,70000 रूपए लगते हैं. जिसका प्रति महीने किस्त 4300/4500 देना पड़ता है. अगर चालक रिक्शा नहीं चलाए तो ना ऋण भर पाएंगे, ना ही अपने परिवार का भरन पोषण कर पाएंगे. ऐसे स्थिति में ये समाज की मुख्य धारा से भटक कर भ्रष्टाचार की राह अपना लेंगे. इसपर जिला प्रशासन एवं पुराना बाजार चैंबर को भी विश्लेषण करने की जरूरत है.

रिक्शा चालक संघ का गठन

hosp3

समस्याओं के समाधान के लिए भृगुनाथ भगत द्वारा ई-रिक्शा चालक संघ का गठन करवाया गया. संघ में सर्व-सहमति से अध्यक्ष अनिल कुमार यादव, सचिव उज्जवल कुमार सिन्हा, कोषाध्यक्ष कृष्णा विश्वकर्मा को चुना गया. संघ के अन्य पदों का भी गठन करवाया गया. सभी की सहमति से संरक्षक भाई भृगुनाथ भगत को चुना गया. ई-रिक्शा चालक संघ संरक्षक द्वारा टेम्पल रोड होते हुए पुराना बाजार से पानी टंकी भ्रमण करते हुए रतनेशवर मंदिर तक पैदल मार्च किया गया. मार्च आगे जाकर आम सभा में तब्दील हो गया. सभा को संबोधित करते हुए भृगुनाथ ने कहा कि सरकार चाहे किसी भी पार्टी की हो उसे गरीबों की रोजी रोटी छीनने का अधिकार नहीं है. अगर  ई-रिक्शा चालक के उपर बेवजह अत्याचार होगा तो संघ इसका जोरदार विरोध करेगा. वहीं भृगुनाथ का कहना है की शहर को पॉल्यूशन मुक्त कराने के लिए ई-रिक्शा लाया गया है तो हमें इस मिशन के तहत ई-रिक्शा को चलने देने चाहिए.

इसे भी पढ़ें : 6000 विद्यालयों का विलय सरकार का उचित निर्णय नहीं: एनएसयूआई

क्या कहते है रिक्शा चालक 

ई-रिक्शा चालक रमेश राम का कहना है कि पुराना बाजार से मनईटांड, बरमसिया के लिए सवारी बाजार से ही मिलते हैं और यहां रिक्शा लगाने पर स्थानीय दुकानदार एवं पुराना बाजार चैम्बर के सदस्य व पुलिस प्रशासन हम लोगों को भगाने का काम करती है. प्रशासन का कहना है कि जोड़ा फाटक के पास टोटो रिक्शा लगाए, लेकिन वहां से सवारी हमलोगों को नही मिलती है. इसके कारण हमलोग पुराना बाजार में लगा देते है. स्थानीय लोगों के द्वारा कभी-कभी हम लोगों को मार पीट कर भगा दिया जाता है. हम अगर प्रशासन के पास जाते हैं तो वहां भी हमलोग को डांट फटकार भगा दिया जाता है.

इसे भी पढ़ें : राफेल डील : रक्षा राज्य मंत्री ने कहा, बस इतना जानिए, हमारी कीमत यूपीए से नौ फीसदी कम  

ट्रैफिक DSP और चैम्बर के लोगों से मिलेंगे भृगुनाथ

वहीं भृगुणात का कहना है कि पहले सरकार ने रिक्शा वालों को स्टैंड और रेन बसेरा दिया था लेकिन वक्त के साथ साथ इस पर अवैध कब्जा कर लोगों द्वारा दुकान सजा लिया है. जिसके कारण आए दिन पुराना बाजार में जाम की स्थिति पैदा हो रही है. जिसका खामियाजा रिक्शा चालकों को भुगतान पड़ता है. उन्होंने कहा कि पुराना बाजार में अवैध तरीके से कब्जा कर चला रहे दुकानदरों  को जल्द से जल्द हटा कर जाम से निजात दिला कर ट्रैफिक व्यवस्था को ठीक किया जाएगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: