न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाजपा नेता पर दहेज के लिए वधु को प्रताड़ित करने का आरोप

2,042

Dhanbad: दहेज के लिए एक नवविवाहिता को किस हद तक प्रताड़ित किया जा सकता है, इसका ताजा उदाहरण सामने आया है. इस संबंध में पीड़िता और उसकी मां ने न्यूज विंग से बातचीत की है. इस बातचीत में दरिंदगी की जो दास्तां सामने आयी, वह हैरान करने वाली है. धनसार की भाजपा नेत्री ने 4 अप्रैल 2018 को अपनी बड़ी बेटी की शादी प बंगाल के बाउरिया जिला के पालपाड़ा निवासी राजन वर्मा के बेटे विक्रम आदित्य वर्मा के साथ की थी. शादी में दहेज के रूप में एक लाख रुपये नगद 51 हजार रुपये का चेक, एक भर सोने की चेन समेत अन्य कीमती सामान दिये. लेकिन लालची राजन वर्मा और उसके बेटे शादी के अगले दिन से ही और पांच लाख रुपये की मांग करने लगे. वधु के साथ मारपीट भी की जाने लगी.

खाना देना भी बंद कर दिया 

पीड़िता के साथ उसका पति दहेज के लिए इस कदर दरिंदगी पर उतर गया कि उसने उसे खाना देना बन्द कर दिया. उसे नशीली दवा खिला कर अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने लगा. मना करने पर मारपीट करता और गंदी गालियां देता था. परेशान युवती ने सारी बात धनबाद अपने मायके में फोन करके परिजनों को बतायी. पति को इसका पता चलने पर वो उसे और अधिक प्रताड़ित करने लगा. इससे उसकी हालत और खराब हो गयी. जब पीड़िता की छोटी बहन उसकी देखभाल के लिए गयी तो उसे भी दो दिन तक खाना नहीं दिया गया.

स्थानीय थाना की पहल से युवती आ सकी धनबाद

जब पीड़िता के परिवार वाले उसे लाने बाउरिया गये तो उनके साथ भी गाली गलौज की गयी. राजन वर्मा ने जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि लड़की की लाश यहां से जायेगी. इसके बाद धनबाद पुलिस और स्थानीय थाना की पहल से पीड़िता को धनबाद लाया गया है. राजन वर्मा ने जनवरी तक वधु को जान से मारने की धमकी दी है. इस दौरान उसके पति ने युवती के परिजनों के सामने बाल्टी में पानी देकर उसकी मांग का सिन्दूर धोने की बात भी कही. पीड़िता को 21 दिसंबर को धनबाद आने के बाद गंभीर हालत में पीएमसीएच में भर्ती किया गया. वहां उसका इलाज हो रहा है.

सांसद-विधायक से लगायी मदद की गुहार, लेकिन नहीं मिली

पीड़िता की मां, भाजपा की बैंक मोड़ मंडल मंत्री ने कहा कि मदद के लिए सांसद पशुपतिनाथ सिंह से मिली लेकिन सहायता नहीं मिली. विधायक राज सिन्हा ने कहा कि महिला थाना में केस करो. जबकि धनबाद जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने देखते हैं- कह कर टाल दिया. कहा कि वो सात साल से भाजपा के लिए कार्य कर रही हैं. फिर कोई भाजपा नेता उनकी मदद नहीं कर रहा है. पीड़िता की मां अब प्रधानमंत्री को पत्र लिखेंगी. साथ ही पिड़ीता की मां ने भाजपा महिला मोर्चा के जिलाध्यक्ष पर भी अपने बेटी के पति और ससुर को भड़काने का आरोप लगाया है. यहां बता दें कि राजन वर्मा भी भाजपा नेत हैं और बाउरिया के जिला अध्यक्ष हैं.

इसे भी पढ़ेंः बोकारो : सड़क हादसे में तीन युवकों की मौत, क्रिसमस की छुट्टी मनाने जा रहे थे पुरुलिया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: