JharkhandLead NewsRanchi

महीने में एक दिन गांव में रात बितायेंगे भाजपा किसान मोर्चा के पदाधिकारी, किसानों को बतायेंगे आत्मनिर्भर होने का मंत्र

Ranchi : भाजपा किसान मोर्चा की संगठनात्मक बैठक गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में हुई. इस दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि सभी मोर्चा के पदाधिकारी हर महीने कम से कम एक रात किसी एक गांव में बितायें. कृषि कानूनों और मोदी सरकार के प्रयासों से आत्मनिर्भर होते किसानों के बारे में ग्रामीणों को जागरूक करें. मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जगरनाथ ठाकुर ने किसान मोर्चा को और अधिक एक्टिव होने को कहा. कृषि क्षेत्र में आत्मनिर्भर होते भारत के बारे में जनजागरुकता की मुहिम को तेज करने को कहा. मौके पर प्रदेश महामंत्री प्रदीप वर्मा, किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पवन साहू के साथ-साथ प्रदेश पदाधिकारी, जिला प्रभारी और अन्य भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – RU : टीआरएल विभाग में कुरमाली, खोरठा और खड़िया विषय के स्थायी शिक्षकों ने दिया योगदान

advt

किसानों को सहकारिता के साथ-साथ FPO से जोड़ने का काम

बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में जगरनाथ ठाकुर ने कहा कि देश में 2014 से पूर्व और अब की स्थिति को देखें. केंद्र सरकार ने एमएसपी में डेढ़ गुना से ज्यादा तक दाम बढ़ाये हैं. धान, गेहूं और अन्य फसलों पर अब किसानों को अधिक लाभ मिल रहा. खाद का दाम सरकार ने पूर्ववत ही रखा है. आर्थिक सुधार के लिए नयी किसान नीति केंद्र ने बनायी. तथाकथित कुछ राजनीतिक दल और ऐसे लोग जो पूर्ण रूपेण किसान नहीं हैं, वे ही किसानों के बीच अफवाह फैलाने में जुटे हैं. पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और यूपी के पश्चिमी हिस्से को छोड़ दें तो कहीं भी किसान ऐसे लोगों के झांसे में नहीं आ रहे. इन राज्यों में कुछ रसूखदार बिचौलिये मंडी टैक्स वसूलते हैं. एक एक राज्य में 10 हजार करोड़ तक मंडी टैक्स वसूली जाती है. मोदी चाहते हैं कि किसानों को उनकी फसल का जहां वाजिब दाम मिले, वे बेचें. पर बिचौलिये इस व्यवस्था को पसंद नहीं कर रहे. वे विरोध के बहाने किसानों की अर्थव्यवस्था को तबाह करना चाहते हैं. अब देश भर में भाजपा किसान मोर्चा किसानों के बीच जागरुकता अभियान में लगा है. झारखंड में भी किसानों को गांव गांव जाकर बताया जायेगा.

2024 तक दोगुनी होगी आय

जगरनाथ ठाकुर के मुताबिक अगले 3 सालों के भीतर केंद्र सरकार किसानों की आय दोगुनी करने पर लगी है. आज 14 करोड़ किसानों के पास स्वायल कार्ड है. फसल बीमा योजना का लाभ मिल रहा है. किसान सम्मान योजना के जरिये उन्हें सबल किया जा रहा है. आने वाले समय में सम्मान निधि को सरकार बढ़ायेगी. कोविड 19 के कारण विकास कार्य प्रभावित हुआ पर केंद्र ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली. आज वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ तक पहुंच गया है. 85 करोड़ लोगों को अनाज भोजन मुहैया कराया गया.

किसानों को सुदृढ करने पर काम जारी है. 6800 करोड़ का एक फंड बनाया गया है. सहकारिता समिति, महिला कर्मी, किसानों को इससे कम ब्याज पर 3000 FPO के जरिये लोन मिलेगा. जैविक खेती के मामले में कुछ सालों पहले तक देश 19वें स्थान पर था. अब यह आठवें स्थान पर आ चुका है.

इसे भी पढ़ें – JSSPS के 5 कैडेटों के लिए खुली खेलो इंडिया की राह, गुवाहाटी में मिलेगा हुनर निखारने का शानदार मौका

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: