GiridihJharkhand

कृषि बिल लाने के लिए भाजपा किसान मोर्चा ने मोदी सरकार के प्रति जताया आभार

Giridih : भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेशध्यक्ष पवन साव ने रविवार को प्रेसवार्ता कर गिरिडीह में हेमंत सरकार और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य के किसानों के हालात खराब हैं. अब तक पूरे राज्य में सिर्फ आठ फीसदी धान की खरीदारी हो पायी है.

लेकिन हेमंत सरकार और मंत्री कृषि बिल को लेकर मोदी सरकार पर आरोप लगा रहे हैं. किसान मोर्चा के प्रदेशध्यक्ष पवन साव रविवार को भाजपा के गिरिडीह कार्यलय में आयोजित बैठक के बाद प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे. पवन साव ने कहा की राज्य के धान क्रय केंद्रों से किसान वापस लौट रहे हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा की किनके पास वे अपना धान बेचें.

हेमंत सरकार ने 50 हज़ार से लेकर दो लाख तक के कृषि ऋणों को माफ करने का भी वादा किया था. किसान बैंकों से घूम जा रहे हैं. किसानों को बैंक अधिकारी कोई जानकारी नहीं होने की बात कर लौटा दे रहे हैं. लेकिन हेमंत सरकार और मंत्री पत्रलेख कृषि बिलों को लेकर मोदी सरकार को घेरने के प्रयास में हैं. राज्य के किसानों की हेमंत सरकार को कोई चिंता नहीं है.

भाजपा नेता ने दिल्ली में हो रहे आंदोलन को कांग्रेस और वामपंथ प्रेरित आंदोलन बताते हुए कहा कि इन दोनों दलों के इशारे पर आंदोलन को फंडिंग की जा रही है. नहीं तो दो माह से खेती छोड़ कर कोई किसान आंदोलन नहीं करने वाला.

इसे पहले जिला कार्यलय में किसान मोर्चा की बैठक हुई. जिसमें कई मुद्दों पर चर्चा की गयी. साथ ही आभार यात्रा को लेकर बात हुई. बैठक में किसान मोर्चा के प्रदेश मंत्री प्रभात सिंह, प्रदेश प्रवक्ता राजेश सिंह, रंजीत राय, प्रमंडल प्रभारी राकेश कुमार, पार्टी के गिरिडीह जिलाध्यक्ष महादेव दुबे, किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष दिलीप वर्मा, जिला महामंत्री सुभाष चंद्र सिन्हा, अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश मंत्री एजाज अहमद सोनू, जिलाध्यक्ष जाकिर हुसैन छोटू खान के अलावे सांसद प्रतिनिधि दिनेश यादव, परमेश्वर यादव नंदलाल राय, अनूप सिन्हा समेत कई मौजूद थे.

Related Articles

Back to top button