JharkhandRanchi

नोटबंदी पर BJP ने नहीं किया विज्ञापन से प्रचार, पीएम बतायें कहां हैं लाभार्थी : आलमगीर आलम

Ranchi : नोटबंदी की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने केंद्र की मोदी सरकार पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया. नोटबंदी को आजादी के बाद देश का सबसे बड़ा घोटाला बताते हुए उन्होंने कहा कि 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी हुई और इस दिन को देश में काले अध्याय के रूप में याद किया जायेगा. आज नोटबंदी का असर पूरे देश में दिख रहा है. भारतीय अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में कमी के बावजूद पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार वृद्धि हो रही है. भारतीय अर्थव्यवस्था पतन की स्थिति में है. बैंकों के एनपीए लगातार बढ़ रहे हैं. फिर भी देश के प्रधानमंत्री चुप हैं. बीजेपी अपने हर निर्णय के पहले बड़े-बड़े विज्ञापन से प्रचार करती है, लेकिन नोटबंदी को लेकर कहीं कोई विज्ञापन नहीं, कोई आयोजन नहीं. उन्होंने कहा कि एक सजग राजनीतिक विपक्ष होने के नाते पार्टी मांग करती है कि प्रधानमंत्री बतायें कि नोटबंदी से हुए निर्णय के लाभार्थी कहां हैं.

इसे भी पढ़ें- रिम्‍स में उड़ी लालू यादव की नींद, बढ़ा डिप्रेशन का लेवल

वर्षगांठ मनानेवाली BJP मौन क्यों

पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में कांग्रेसी नेता ने कहा कि हर विषय को लेकर वर्षगांठ मनानेवाली बीजेपी इस नोटबंदी पर क्यों मौन है. रातों-रात तुगलकी फरमान के जरिये जिस तरह 500 और 1000 रुपये के नोट को चलन से बाहर कर दिया गया, उसे आज तक जनता समझ नहीं सकी है. आखिर यह निर्णय किसके हित में लिया गया? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी इस महाघोटाले को भूल सकते हैं, मगर देश की जनता इसे नहीं भूल सकती. प्रधानमंत्री होने के नाते नरेंद्र मोदी को इसका जवाब देना पड़ेगा.

advt

इसे भी पढ़ें- झारखंड स्‍थापना दिवस: CM रघुवर दास को काला झंडा दिखायेंगे पारा शिक्षक!

पीएम का एलान हुआ बेकार, उद्योग को हुआ नुकसान

आलमगीर आलम ने कहा कि जिस तरह से नोटबंदी को लागू किया गया, उससे देश के तमाम उद्योगों पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ा. कुटीर उद्योग सहित असंगठित क्षेत्र में कार्यरत मजदूरों को अपनी नौकरियों तक से हाथ धोना पड़ा. जीडीपी में 1.5 प्रतिशत की गिरावट देखी गयी. पीएम के इस तुगलकी आदेश के बाद विभिन्न सार्वजनिक मंचों पर बार-बार यही एलान किया गया कि अगर नोटबंदी का निर्णय गलत साबित होता है, तो उन्हें बीच चौराहे पर फांसी पर लटका दिया जाये. अब उनका नोटबंदी का फैसला गलत साबित हुआ है. दरअसल, पीएम का उक्त निर्णय सिर्फ उनके मित्रों के कालेघन को सफेद करने का एक प्रयास था. कांग्रेस पार्टी शुरू से उनके निर्णय के खिलाफ खड़ी है. इसके बावजूद प्रधानमंत्री इसका जवाब देने को तैयार नहीं हैं.

इसे भी पढ़ें- समस्याओं से घिरे सदर अस्पताल में एसडीओ को नजर ही नहीं आयी कोई समस्या

शुक्रवार को कांग्रेस करेगी प्रदर्शन

प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने बताया कि नोटबंदी जैसे जनविरोधी निर्णय के खिलाफ शुक्रवार को राज्य के सभी जिला मुख्यालयों में केंद्र सरकार का पुतला दहन किया जायेगा. साथ ही, राजधानी स्थित आरबीआई मुख्यालय के समक्ष कांग्रेसी कार्यकर्ता धरना-प्रदर्शन कर सरकार की जनविरोधी नीतियों को जनता के सामने लायेंगे.

adv

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button