National

कमलनाथ सरकार को गिराने की कोशिशों से BJP का इनकार, शिवराज बोले- मामला उनके घर का, आरोप हम पर लगाते हैं

Bhopal: मध्य प्रदेश की राजनीति हरियाणा के गुरुग्राम स्थित एक होटल में शिफ्ट हो गयी है. जहां कांग्रेस के कुछ विधायक हैं. और कांग्रेस का आरोप है कि सरकार को अस्थिर करने की ये बीजेपी की साजिश है.

विधायकों को मोटी रकम का लालच देकर गुमराह करके लाया गया है. मंगलवार से ही ये तमाशा जारी है. वहीं बीजेपी ने इन आरोपों से इनकार किया है. और पूरे सियासी ड्रामे को कांग्रेस सरकार की अंतर्कलह करार दिया है. सूबे के पूर्व सीएम शिवराज ने कहा कि हमारी ऐसी कोई भी गतिविधि नहीं है.

इसे भी पढ़ेंःगुरुग्राम शिफ्ट हुई मध्य प्रदेश की राजनीतिः विधायकों को बंधक बनाने पर हाईवोल्टेज ड्रामा, फेल हुआ BJP का प्लान?

SIP abacus

मामला उनके घर का, आरोप हम पर लगा रहे- शिवराज

Sanjeevani
MDLM

विधायकों की खरीद-फरोख्त और मध्यप्रदेश सरकार को गिराने की कोशिशों से पूर्व सीएम और बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान ने इनकार किया है. उन्होंने साफ किया है कि पार्टी ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं है.

हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अब अगर उनके (कांग्रेस) बोझ से कुछ होता है तो वो जाने.

कांग्रेस द्वारा लगाये गये आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवराज ने कहा कि मामला उनके घर का और आरोप हम पर लगा रहे हैं. उनका काम ही है आरोप लगाना. हकीकत ये है कि कांग्रेस में इतने गुट है कि अब अपने मारा-मारी मची हुई है.

अंतर्कलह से ग्रसित है कमलनाथ सरकार- बीजेपी

भाजपा ने साफ किया है कि मध्यप्रदेश में कमजोर बहुमत पर खड़ी मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का वह कोई प्रयास नहीं कर रही है, बल्कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने ही अंतर्कलह से ग्रसित है.

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार सुबह को यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘ मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अपने अंतर्विरोधों, अंतर्कलह से ग्रसित है. आप लोग देख रहे होंगे कि किस प्रकार से सरकार में उनके अपने अंदर विद्रोह हैं. भारतीय जनता पार्टी का इस पूरे प्रकरण से कोई लेना देना नहीं है, ना ही भाजपा के इस तरह के कोई प्रयास हैं.’

उन्होंने कहा कि अंतर्कलह का जवाब कमलनाथ जी, सिंधिया जी और दिग्विजय सिंह जी को देना चाहिए. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाते हुए कहा, ‘ ये पहले से ही ब्लैकमेल सरकार है. जब बनी थी तब जोड़-तोड़ के आधार पर बनी थी. इस प्रकार के घटनाक्रम में न भाजपा का कोई लेना देना है न हमारे किसी प्रकार के प्रयास हैं.’

इसे भी पढ़ेंः#JharkhandVidhansabha: बीजेपी विधायकों ने वेल में लगाया संघर्ष का नारा, स्पीकर बोले – बाबूलाल का मामला विचाराधीन

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगाये. जिस पर मंगलवार सुबह से लेकर मिडनाइट तक सियासी ड्रामा चलता रहा है. कांग्रेस ने बीजेपी पर विधायकों को पाला बदलने के लिए 5-10 करोड़ रुपए का ऑफर देने का आरोप लगाया है.

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी मध्य प्रदेश के कांग्रेस, बसपा, समाजवादी पार्टी और निर्दलीय के विधायकों को बंधक बनाकर दिल्ली लायी. बीजेपी ने कांग्रेस के 6, बसपा के 2, और एक निर्दलीय विधायक को गुड़गांव के आईटीसी मराठा होटल में एकत्रित किया है. हालांकि कांग्रेस ने ये भी दावा किया है कि उन्होंने बीजेपी के कब्जे से छह विधायकों को छुड़ा लिया है.

इसे भी पढ़ेंःधनबाद में मिला #Corona का संदिग्ध, वायरस से संक्रमित होने की आशंका, रांची रेफर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button