DhanbadJharkhand

ढुल्लू महतो के बचाव में उतरी बीजेपी, कहा- विधायक के साथ हो रहा सड़क छाप गुंडे जैसा बर्ताव

Dhanbad : बीजेपी अपने पार्टी के बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो के बचाव में उतरी है. गुरुवार को भाजपा के जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने प्रेस कॉफ्रेंस कर कहा कि सरकार के इशारे पर ही जिला प्रशासन ढुल्लू महतो को परेशान करने का काम कर रही है.

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन अपनी हरकत से बाज आये अन्यथा भाजपा कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर आंदोलन करने को बाध्य होंगे.

उन्होंने कहा कि जमीन विवाद में तीन लोगों द्वारा विधायक पर फर्जी केस किया गया है. विधायक को फंसाने की साजिश की जा रही है. उन्होंने इस दौरान कहा कि कमला देवी वाला मामला भी झूठा है.

साथ ही कहा कि महिला के कपड़ों का फाड़ने के मामले का आरोप विधायक के बॉडीगार्ड पर है, तो ऐसे में ढुल्लू महतो प्रशासन के समक्ष कैसे हाजिर हों.

उन्होंने कहा कि विधायक को परेशान करने की साजिश रची जा रही है. कहा कि विधायक के साथ सड़क छाप गुंडे जैसा बर्ताव किया जा रहा है. भाजपा इसे किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं करेगी.

इसे भी पढ़ें – चास SDM IAS शशि प्रकाश ने आखिर क्यों कहा- इसे दूर ले जाकर इतनी जोर से मारो कि आवाज मुझ तक आये, देखें वीडियो

जिलाध्यक्ष ने दी थी एफआइआर करवाने की सलाह

एक ओर भाजपा जिलाध्यक्ष ने यौन शोषण मामले में महिला का बचाव किया तो दूसरी ओर इस बारे में यौन शोषण पीड़िता का कुछ और ही कहना है. महिला का कहना है कि कतरास में मैंने संगठन को खड़ा किया था. जब मेरे साथ विधायक ढुल्लू महतो ने ऐसी हरकत की, तो मैंने मामले की शिकायत सबसे पहले भाजपा के जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह से की.

इसपर उन्होंने कहा कि था थाने में जाकर एफआईआर करवाओ. इसके बाद से ही वो न्याय के लिए दर-दर भटकती रही. जिला से लेकर राज्य स्तर तक के पदाधिकारियों के पास गयी.

सभी लोगों ने इस घटना पर दुख जताया और कार्रवाई का भरोसा दिलाया. महिला ने कहा कि अगर मेरा मामला झूठा था, तो जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने एफआइआर करवाने की सलाह क्यों दी?

इसे भी पढ़ें – #DhulluMahto : क्या सिस्टम और पुलिस-प्रशासन इस आरोप से मुक्त हो पायेगा कि वह गुलाम नहीं है

दागी विधायक को बचाकर अपना जनाधार खो रही है भाजपा

यौन शोषण पीड़िता ने बताया कि जब हाईकोर्ट के निर्देश पर एफआईआर दर्ज हो गयी, तो भाजपा जिलाध्यक्ष ने कांके सरदार नाम के व्यक्ति को मामले को मैनेज करने के लिए उनके पास भेजा था. कांके सरदार ने साफतौर पर जिलाध्यक्ष का नाम लेकर उन्हें प्रलोभन देने की भी कोशिश की थी. इस बाबत एक ऑडियो भी वायरल हुआ था.

इसके अलावा यौन शोषण पीड़िता ने कहा कि अगर मेरा मामला झूठा था तो जिलाध्यक्ष महोदय मुझे मैनेज करने की कोशिश क्यों कर रहे थे? उन्होंने कहा कि भाजपा ढुल्लू महतो जैसे दागी विधायक के पक्ष में उतरकर अपना बचा-खुचा जनाधार खोने का काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें – नीतीश के संबंध में दिये ‘‘पिछलग्गू’’ बयान पर प्रशांत किशोर ने दी सफाई

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close