National

BJP का ‘बेटी बचाओ गैंग’ निर्लज्ज, रेपिस्ट को किया शामिल: कांग्रेस

New Delhi: एक पूर्व एयरहोस्टेस को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी विधायक गोपाल कांडा ने हरियाणा में भाजपा को समर्थन दिया है.

इसे लेकर कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि भगवा दल का ‘‘बेटी बचाओ गैंग’’ ‘‘निर्लज्ज’’ है. क्योंकि वह एक महिला वित्त मंत्री होने का दंभ भरता है और उसके बाद ‘‘रेपिस्ट’’ को शामिल करता है.

भापजा पर प्रियंगा गांधी का हमला

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांडा के मुद्दे पर भाजपा पर हमला किया.  उन्होंने हैशटैग ‘नो टू कांडा’ के साथ ट्वीट किया, ‘‘पहले कुलदीप सेंगर, उसके बाद नित्यानंद और अब गोपाल कांडा… हर स्वाभिमानी भारतीय महिला को भाजपा और उसके नेताओं का बहिष्कार करना चाहिए अगर वे महिला सम्मान के बारे में बोलने की हिम्मत करते हैं. 

इस मामले में विवाद तब खड़ा हो गया जब कांडा ने कहा कि उन्होंने और सभी निर्दलीय विधायकों ने भाजपा को बिना शर्त समर्थन देने का ‘‘निर्णय’’ किया है. 

जब भाजपा के महासचिव अनिल जैन से हालांकि इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी मामले से अवगत है और वह इस पर निर्णय करेगी.

इसे भी पढ़ें- #GopalKanda के समर्थन को लेकर BJP में मतभेद, उमा भारती ने कहा-चुनाव जीतना, अपराधों से बरी नहीं करता

क्या महत्वपूर्ण है…सत्ता या महिला सुरक्षा

हिला कांग्रेस प्रमुख सुष्मिता देव ने भाजपा प्रमुख अमित शाह को लिखे एक पत्र में कहा कि कांडा के साथ गठजोड़ न केवल भाजपा की महिला सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता बल्कि उसकी नैतिकता पर भी सवाल खड़े करता है.

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किये गए पत्र में लिखा कि देश की बेटियां देख रही हैं कि आपके लिए क्या महत्वपूर्ण है…सत्ता या महिला सुरक्षा.

देव ने केंद्र की ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना का उल्लेख करते हुए आरोप लगाया, ‘‘महिला कांग्रेस भाजपा के कांडा के साथ गठजोड़ की निंदा करती है.

भाजपा बेटी बचाओ के नाम पर दोहरी बातें करके अपनी कथनी और करनी में अंतर रखती है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बेटी बचाओ के नाम पर ठगने वाली पार्टी ने समर्थन के लिए गोपाल कांडा की तरफ हाथ बढ़ाकर संवेदनहीनता की हद पार कर दी है.

उन्होंने कहा कि देश की बेटियां मूक दर्शक नहीं रहेंगी, इसका अच्छा उदाहरण आप दोनों राज्यों हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में देख चुके हैं. ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना का उद्देश्य महिला भ्रुण हत्या पर रोक लगाना और बालिकाओं को शिक्षित करना है.

सुष्मिता देव ने एक ट्वीट में लिखा कि भाजपा का बेटी बचाओ गैंग मूलत: निर्लज्ज और बेशर्म है. वे एक महिला रक्षा मंत्री और वित्त मंत्री होने का दंभ भरते हैं और उसके बाद बलात्कारियों को पार्टी में समायोजित करते हैं.

इसे भी पढ़ें- जानिये गीतिका शर्मा को, जिनकी आत्महत्या से तिहाड़ जेल पहुंच गये थे हरियाणा में भाजपा को समर्थन देनेवाले गोपाल कांडा

भाजपा पर सत्ता की भूख का आरोप

इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला से कांडा के भाजपा को समर्थन दिये जाने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि मेरा मानना है कि आपको नरेंद्र मोदी और अमित शाह के उस समय के बयानों को देखना चाहिए जब गोपाल कांडा हरियाणा में (कांग्रेस) सरकार में एक मंत्री थे और हमने एक मामला दर्ज होने के बाद उन्हें इस्तीफा देने के लिए बाध्य किया था और उन्हें मंत्री पद से हटा दिया था.

उन्होंने भाजपा पर ‘‘सत्ता की भूख’’ दिखाने का आरोप लगाते हुए कहा कि उस समय भाजपा का क्या रुख था? और आज वह किस तरह की दोहरी बातें कर रही है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा उपाध्यक्ष उमा भारती ने हरियाणा में सरकार बनाने के लिए विवादास्पद निर्दलीय विधायक गोपाल कांडा का समर्थन लेने के खिलाफ पार्टी को आगाह करते हुए कहा कि उसे अपने ‘‘नैतिक मिशन’’ को नहीं भूलना चाहिए.

भारती ने अपने ट्वीट में कहा कि वह भाजपा से अपने नैतिक मिशन को नहीं भूलने का अनुरोध करेंगी. वह यह सुनिश्चित करने के लिए भी पार्टी से आग्रह करेंगी कि ऐसे लोगों से समर्थन लिया जाये, जो हमारे कार्यकर्ताओं की तरह ‘बेदाग’ हों.

क्या है कांडा मामला

गौरतलब है कि कांडा पर 2012 में एक पूर्व एयर होस्टेस ने उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए आत्महत्या कर ली थी.

पुलिस ने अपनी जांच के दौरान कांडा पर एयरहोस्टेस से बलात्कार करने और उसे आत्महत्या के लिए उकसाने के भी आरोप लगाये. एयरहोस्टेस की मां ने भी बाद में अपना जीवन समाप्त कर लिया था.

बाद में कांडा पर उसे भी आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया.  मामला अदालत में है. बाद में कांडा के खिलाफ रेप और अप्राकृतिक दुष्कर्म के आरोप हटा लिये गये. 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: