1st LeadDhanbadJharkhand

बीआइटी सिंदरी : एक तरफ मातम, तो दूसरी तरफ जश्न

Ad
advt

Dhanbad : झारखंड सरकार की एकमात्र सरकारी अभियंत्रण संस्थान बीआइटी सिंदरी में रविवार को अजब-गजब नजारा था. एक ओर बीआइटी के छात्र गमजदा थे तो वहीं पूर्ववर्ती छात्रों के साथ संस्थान के प्राध्यापक, संस्थान निदेशक एवं प्रोफेसरों में जश्न का माहौल था.

दरअसल, बीआइटी सिंदरी के एमटेक मेकेनिकल के छात्र सौरभ कुमार ने अपने हॉस्टल आवास संख्या बी 13 में शनिवार को जहर खा लिया. आनन-फानन में उसे एशियन जालान धनबाद में भर्ती कराया गया, जहां रविवार की अहले सुबह इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया. इस घटना से बीआइटी सिंदरी के छात्र गमजदा होकर मातम मना रहा थे. वहीं दूसरी ओर बिट्सा का पूर्ववर्ती छात्र समागम बीआइटी सिदरी में रविवार को बीआइटी के विकास और कल्याण के कार्यों में सहयोग करने के संकल्प के साथ समाप्त हुआ. आयोजन में देश-विदेश से 70 से ज्यादा पूर्ववर्ती छात्रों का जुटान हुआ. देशपांडेय सभागार में आयोजित समागम में बीआइटी सिंदरी के निदेशक डॉक्टर डीके सिंह और देश-विदेश में अपनी प्रतिभा का परचम लहराने वाले पूर्ववर्ती छात्रों ने दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया. सबने बीआइटी में बिताए अपने छात्र जीवन के सबसे महत्वपूर्ण चार सालों को याद किया. संस्थान में आए बदलाव की सराहना की.

advt

 

समागम में बीसीसीएल के पूर्व निदेशक राकेश कुमार, डब्ल्यूएमएपीएल के सीएमडी आर के चौधरी, बीएसएनएल के जीएम यूपी शाह, यूएसए से उज्जवल ऋत्विक ने आकर समागम की शोभा बढ़ाई.

advt

 

बता दें कि बीआइटी सिंदरी एल्युमिनाई एसोसिएशन(बिट्सा) बीआइटी सिदरी के पूर्ववर्ती छात्रों का वैश्विक संगठन है. संस्थान के विकास में पूरा सहयोग करता है..

इधर, मातमी माहौल में एमटेक मेकेनिकल के छात्र सौरभ कुमार के सहपाठी मित्र एमटेक सिविल के छात्र विनोद ने बताया कि सौरभ ने जहर खाने के बाद इसकी सूचना फोन पर उसे दी थी और इसकी जानकारी जेनरल वार्डन को भी दी गई थी. सौरभ छोटे भाई की नौकरी होने व अपनी असफलता को लेकर डिप्रेशन में था. जिंदगी को लेकर काफी अफसोस करता रहता था.

 

वहीं इस संबंध में बीआइटी सिंदरी के जेनरल वार्डन राजीव कुमार वर्मा ने क्षेत्र के पुलिस गौशाला ओपी को लिखित आवेदन कहा है कि न्यू पीजी छात्रावास में एमटेक द्वितीय सेमेस्टर का छात्र सौरभ ने शनिवार की शाम 7 बजे पेट में गंभीर दर्द की शिकायत की थी. तभी बाइक पर कुछ छात्र उसे लेकर इलाज के लिए धनबाद ले गए. रास्ते में परिजनों ने सौरभ की स्थिति को देखते हुए एसएनएमएमसीएच धनबाद ले गए. वहां इलाज में देरी होने के कारण परिजनों ने उसे एशियन जालान अस्पताल में भर्ती कराया था. जहां उसने रविवार की सुबह तीन बजे दम तोड़ दिया. उन्होंने बताया है कि सौरभ डिप्रेशन में था और इसके लिए दवा भी ले रहा था. दीपावली व छठ की छुट्टी के बाद शनिवार को दोपहर में ही सौरभ छात्रावास लौटा था.

 

इसे भी पढ़ें : पलामू : चैनपुर थाना में विस्फोट से गंभीर एक चौकीदार रांची रेफर, सफाई के दौरान हुआ था धमाका

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: