JharkhandLead NewsRanchiSports

बर्थडे स्पेशल :  टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना करनेवाले “ द ग्रेट वॉल “ को सलाम

राहुल द्रविड़ के जन्मदिन पर विशेष

Naveen Sharma

Ranchi: राहुल शरद द्रविड़ भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं. राहुल का जन्म 11 जनवरी 1973 को इंदौर में हुआ था. राहुल का टेस्ट में पदार्पण  20 June 1996 को इंग्लैंड England के विरुद्ध मैच में हुआ था. वे सचिन तेंदुलकर की तरह धुंआधार बैटिंग नहीं करते थे लेकिन बड़े ही पेसेंस के साथ स्टाइलिस्ट अंदाज में खेलते थे.

खासकर टेस्ट मैचों में वो भारतीय टीम की रीढ़ के समान थे. उन्होंने बहुत से मौकों पर जब एक छोर से विकेट धड़ाधड़ गिर रहे होते थे ऐसे मौके पर राहुल द्रविड़ दीवार की तरह डटे रहते. उन्होंने आउट करने के लिए धुरंधर गेंदबाजों को भी पसीने छूट जाते थे.

advt

इसे भी पढ़ें :ठगे जा रहे हैं सूबे के किसान: प्रति क्विंटल धान पर पांच किलो का पैसा नहीं, उपर से 200 ग्राम एक्सट्रा

करीब दस वर्षों तक वे भारतीय टीम के नियमित सदस्य रहे. अक्टूबर 2005 में वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बने. सितम्बर 2007 में उन्होंने अपने इस पद से इस्तीफा दे दिया. राहुल ने अंतिम टेस्ट: January 2012 को खेला था.

टेस्ट खेलने वाले सभी देशों में शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी

राहुल पहले ऐसे बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने सभी 10 टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले देशों में शतक बनाए हैं. इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, जिम्बाब्वे, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश और भारत उनके करियर के दौरान 10 टेस्ट खेलने वाले देश थे.

टेस्ट क्रिकेट के सबसे सफल साझेदार

राहुल द्रविड़ की एक खास बात ये भी है कि वे सबसे विश्वसनीय साझेदारों में शुमार हैं. टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा 32,039 रन बनाने की साझेदारी का वर्ल्ड रिकॉर्ड राहुल के ही नाम पर है. वह अर्द्धशतक और शतक साझेदारियों की अधिकतम संख्या में शामिल रहे हैं. उन्होंने 50+ रनों की 126 साझेदारियां और 100+ रनों की 88 साझेदारियां की है.

सबसे ज्यादा कैच लेनेवाले फील्डर

राहुल बल्लेबाज तो अच्छे थे ही वे फील्डर भी अच्छे थे खासकर स्लीप के एरिया में वे दीवार बन कर खड़े हो जाते थे. अपने 164 टेस्ट मैचों में इन्होंने 210 कैच लपके हैं जो विकेटकीपर को छोड़कर किसी अन्य फील्डर द्वारा लिया गया सर्वाधिक कैच का रिकॉर्ड है. उन्होंने भारतीय दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले की गेंद पर 55 और स्पिनर हरभजन सिंह की गेंद पर 51 कैच पकड़े हैं जो एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है.

राहुल -सचिन  के नाम सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकार्ड

राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर टीम इंडिया की सबसे सफल जोड़ीदारों में शुमार हैं. ये दोनों एक रिकॉर्ड साझा करते हैं, इन दोनों ने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में किसी भी अन्य जोड़ीदार की तुलना में एक साझेदारी में सबसे अधिक रन बनाये हैं. इन दोनों ने आपस में 6,920 रन बनाए हैं जिसमें 20 शतकीय साझेदारियां शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :ऑस्ट्रेलियायी गेंदबाज नहीं तोड़ पाये बिहारी व अश्विन की दीवार, भारत एतिहासिक जीत से चूका, सिडनी टेस्ट ड्रा

अंडर 19  टीम के बेहतरीन कोच, पद्म भूषण से हुए सम्मानित

रिटायर होने के बाद द्रविड़ ने भारत की अंडर 19 क्रिकेट टीम के कोच के रूप में भी जबरदस्त काम किया है. राहुल को विज्डन क्रिकेटर्स ऑफ द ईयर भी चुना गया था. क्रिकेट में उनके योगदान के लिए पहले पद्म श्री और बाद में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है.

राहुल द्रविड़ ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में लगभग 25,000 रन बनाए. राहुल ने 24 जनवरी 2012 को श्रीलंका के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट खेला जबकि 16 सितंबर 2011 को इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी वनडे खेला था.
इसे भी पढ़ें :31 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन अब भी बंद, लॉकडाउन के पहले होता था 64 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन

राहुल द्रविड़ के यादगार रिकॉर्ड्स

  1. राहुल द्रविड़ के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना करने का रिकॉर्ड है. उन्होंने अपने पूरे टेस्ट करियर में सबसे ज्यादा 31,258 गेंदें खेली हैं. वहीं 200 टेस्ट खेलने वाले सचिन तेंदुलकर 29,437 गेंदों के साथ दूसरे नंबर पर हैं जबकि दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर जैक कैलिस 28, 903 गेंदों के साथ तीसरे नंबर पर है.
  2. द्रविड़ ने टेस्ट मैचों में क्रीज पर 44,152 मिनट बिताए हैं जो लगभग 736 घंटे होता है, यह एक विश्व रिकॉर्ड भी है.
  3. राहुल दुनिया के इकलौते ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने सबसे ज्यादा 66 बार 100 रनों की साझेदारी की है. साथ ही उन्होंने 9 बार 200 रनों की साझेदारी की है.
  4. द्रविड़ 12,000 से अधिक टेस्ट रन बनाने वाले भारत के दूसरे और विश्व के तीसरे बल्लेबाज हैं. टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रनों के मामले में सचिन तेंदुलकर पहले जबकि ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रिकी पोंटिंग दूसरे नंबर पर है.
  5. राहुल द्रविड़ ने 2006 में लाहौर में पाकिस्तान के खिलाफ वीरेंद्र सहवाग के साथ पहले विकेट के लिए 410 रनों की साझेदारी की है जो भारत के लिए किसी भी विकेट के लिए घर से दूर सबसे बड़ी साझेदारी है. केवल पंकज रॉय और वीनू मांकड़ ने भारत के लिए चेन्नई में 6-11 जनवरी 1956 को न्यूजीलैंड के खिलाफ 413 रनों की साझेदारी में अधिक रन बनाए.
  6. लगातार चार पारियों में टेस्ट शतक लगाने वाले तीन बल्लेबाजों में से एक हैं. द्रविड़ ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन और वेस्टइंडीज के खिलाफ एक मैचों में 115, 148, 217 और 100* के स्कोर के साथ यह उपलब्धि हासिल की.
  7. टेस्ट में नंबर 3 पर बल्लेबाजी करते हुए 10,000 से अधिक रन बनाए. उन्होंने 28 शतकों और 50 अर्धशतकों के साथ इस नंबर पर 219 टेस्ट पारियों में 88 की औसत से कुल 10524 रन बनाए हैं. यह नंबर 3 पोजीशन पर बल्लेबाजी का विश्व रिकॉर्ड है.

इसे भी पढ़ें :बाइक पर सवार थे परिवार के पांच सदस्य, गिर गई बच्ची, ट्रैक्टर ने कुचला – मौत

         Batting Career Summary

MInnNORunsHSAvgBFSR100200504s6s
Test164286321328827052.313125842.5136563165521
ODI344318401088915339.171528471.241208395042
T20I110313131.021147.6200003
IPL8982521747528.231882115.52001126828

 

इसे भी पढ़ें :अमेरिकी संसद पर हमलाः डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ आज पेश होगा महाभियोग का प्रस्ताव

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: