न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

26.75 करोड़ में बनेगा बिरसा मुंडा म्यूजियम, 15 नवबंर 2019 तक पूरा होगा कार्य

156

Ranchi : पुराने बिरसा मुंडा जेल परिसर को बिरसा मुंडा म्यूजियम बनाने के लिए केंद्र सरकार 25 करोड़ रूपये खर्च करेगी. इसके अलावा राज्य सरकार लगभग 1.75 करोड़ रूपये म्यूजिम के संरक्षण पर खर्च करेगी. इस तरह करीब 26.75 करोड़ खर्च करने के बाद यह जेल परिसर एक ऐसे म्यूजियम में तब्दील होगा, जिसमें भावी पीढ़ी के युवा अपनी पुरानी विरासत और धरोहर को जान सकेंगे. सोमवार को नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह और कल्याण विभाग की सचिव हिमानी पांडे ने जेल परिसर के जायजा लेने के दौरान यह बात कही.उन्होंने कहा कि म्यूजियम बनने का कार्य 15 नवंबर 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा. वहीं आगामी 11 अक्टूबर इसका शिलान्यास करने की बात भी उन्होंने कही.

इसे भी पढ़ें : 8 अरब की वन भूमि निजी और सार्वजनिक कंपनियों के हवाले, फिर भी प्रोजेक्ट पूरे नहीं 

संजो कर रखी जाएगी भगवान बिरसा की स्मृतियां

पुराने जेल परिसर की स्थिति का निरीक्षण करने के दौरान सचिव अजय कुमार सिंंह ने कहा कि जेल परिसर को बिरसा मुंडा म्यूजियम के रूप में विकसित किया जाएगा. इसमें एक तरफ जहां भगवान बिरसा मुंडा से जुड़ी स्मृतियां संजो कर रख जाना है. वहीं दूसरी तरफ स्वतंत्रता संग्राम में झारखंड के वीर सपूतों के बलिदान से लोगों को रूबरू कराने के लिए कई स्वतंत्रता सेनानियों की स्मृति को संरक्षित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जेल परिसर में भगवान बिरसा मुंडा की एक भव्य प्रतिमा स्थापित होगी, जो इस म्यूजियम में पहुंचने वाले लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बनेगा. परिसर में लाइट एंड साउंड शो का भी प्रावधान किया गया है.

इसे भी पढ़ें : CM का विभाग : 441.22 करोड़ का घोटाला, अफसरों ने गटका अचार और पत्तों का भी पैसा

समृद्धशाली विरासत को नजदीक से देखेंगे लोग

उन्होंने कहा कि जेल परिसर को संरक्षित करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने करीब 26.75 करोड़ रूपये खर्च करेगी. इसमें केंद्र का हिस्सा 25 करोड़ और राज्य का हिस्सा लगभग 1.75 करोड़ रूपये खर्च का होगा. ऐसा करने के पीछे सरकार की मंशा है कि आने वाले पीढ़ी के युवाओं को अपनी पुरानी विरासत और धरोहर को जानने और उन्हें अपने दैनिक जीवन में लाने को प्रोत्साहित किया जाए. सचिव अजय कुमार सिंह ने कहा कि राज्य के युवा इस स्थल पर पहुंचेंगे तो झारखंड की समृद्धशाली विरासत को नजदीक से देखेंगे और जानेंगे.

इसे भी पढ़ें : नैक ग्रेडिंग वाला झारखंड का पहला निजी विवि बना जेआरयू

एक साल में पूरा होगा म्यूजियम निर्माण कार्य

उन्होंने कहा कि म्यूजियम के निर्माण व संरक्षण कार्य के लिए 1 साल की अवधि निर्धारित की गयी है. 15 नवंबर 2019 तक कार्य को पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित है. वहीं 11 अक्टूबर को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास और केंद्रीय मंत्री जुएल उरांव संयुक्त रूप से बनने वाले म्यूजिमय का शिलान्यास करेंगे. इसके लिए कल्याण विभाग और नगर विकास विभाग की ओर से तैयारी शुरू कर दी गयी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: