JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

बिरसा ग्राम विकास योजना सह-कृषक पाठशाला की होगी शुरुआत: मुख्यमंत्री

स्वतंत्रता दिवस पर मोरहाबादी मैदान में आयोजित हुआ मुख्य समारोह

Ranchi:  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि इस वर्ष नई योजना के रूप में समेकित बिरसा ग्राम विकास योजना सह-कृषक पाठशाला की शुरूआत की जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में प्रत्येक जिले में एक कृषि फार्म में उन्नत कृषि तकनीक, उद्यानिक फसलों की खेती, पशुपालन, मत्स्य पालन, सिंचाई की उन्नत व्यवस्था की जाएगी. फिर उसे  कृषक पाठशाला के रूप में विकसित किया जायेगा.  मुख्यमंत्री आज स्वतंत्रता दिवस पर मोरहाबादी मैदान में आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि कृषक पाठशाला में स्थानीय किसानों की क्षमता का विकास कर उन्हें कृषि क्षेत्र, पशुपालन , मत्स्य पालन, सूकर पालन इत्यादि में दक्ष एवं रोजगारोन्मुखी बनाकर उनकी आय में बढ़ोत्तरी की जायेगी.

इससे पूर्व मुख्यमंत्री 8.55 बजे मोरहाबादी पहुंचे और परेड की सलामी ली. इस मौके पर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, डीजीपी नीरज सिन्हा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, विनय चौबे समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़े : बोकारो के जैनामोड़ से गोला-ओरमांझी एक्सप्रेस वे 1736 करोड़ में बनेगा, डीपीआर तैयार

The Royal’s
Sanjeevani

किसानों को आपदा में मदद के लिए फसल राहत योजना शुरूआत

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए उन्हें कृषि उत्पादन में आर्थिक नुकसान की भरपाई के लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 में झारखण्ड राज्य फसल राहत योजना शुरू की जा रही है. इसके तहत प्रतिकूल मौसम के कारण फसलों के उत्पादन में नुकसान होने की स्थिति में क्षति का आकलन कर किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान की जा सकेगी.

इसे भी पढ़े : Newswing 15th Aug Epaper

 बिरसा किसान के रूप में मिली पहचान

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिरसा किसान के रूप में राज्य के किसानों को एक नई पहचान मिली है. अगस्त को ‘विश्व आदिवासी दिवस’ के अवसर पर किसानों के लिए 34 करोड़ रुपये की योजनाओं की शुरूआत की गई है. राज्यभर के 2 लाख किसानों को 587 करोड़ रूपये का ऋण स्वीकृत किया गया.  वहीं, पशुधन योजना के तहत् राज्य के 62 हजार किसानों को कुल 47 करोड़ रुपये अनुदान के रूप में उपलब्ध कराया जायेगा.

इसे भी पढ़े : Jharkhand: अदालतों में अब 50 फीसदी फिजिकल सुनवाई होगी

अब तक 15442 लोगों को मिला रोजगार

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरी क्षेत्र में श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री श्रमिक योजना लागू की गई है.  इस योजना के अन्तर्गत अब तक 15,442 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है.  राज्य में कुल एक लाख तेरह हजार मानव दिवस सृजित किए गये हैं.

इसे भी पढ़े : RANCHI : मारवाड़ी स्कूल के तीन बच्चे कोरोना संक्रमित

लोगों से की अपील कहा- खतरा अभी टला नहीं है सचेत रहें

सीएम ने कहा कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर के बारे में बार-बार आगाह किया जा रहा है. कोरोना महामारी की वर्तमान परिस्थिति का मूल्यांकन कर राज्य सरकार द्वारा पाबंदियों में छूट जरूर दी गयी हैं ताकि राज्य में जीवन के साथ जीविका भी सुरक्षित रहे. परन्तु हमें यह भी ध्यान रखना है कि कोरोना महामारी का खतरा अभी टला नहीं है.

मुख्यमंत्री ने अपील की कि कोरोना महामारी के प्रति बिल्कुल भी लापरवाही न बरतें, कोरोना गाईडलाईन्स का पालन करें. मास्क जरूर पहनें और ‘दो गज दूरी’ मानदण्ड का पालन करें. राज्य में टीकाकरण का कार्य भी तीव्र गति से जारी है. राज्यवासियों को टीकाकरण में कोई परेशानी न हो, यह सुनिश्चित किया जा रहा है.

इसे भी पढ़े : Ranchi : कमड़े स्थित गोदाम में प्रशासन का छापा, भारी मात्रा में पान मसाला जब्त

झलकियां

– मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन अपने परिवार समेत 8 बजकर 55 मिनट पर मोरहाबादी समारोह स्थल पहुंचे

-ब्लू रंग की बण्डी और सिर पर टोपी पहनकर कर मुख्यमंत्री समारोह स्थल पहुंचे

-मुख्य सचिव सुखदेव सिंह 8 बजकर 45 मिनट पर समारोह स्थल पहुंचे

-covid-19 को लेकर जारी गाइडलाइन का ख्याल भी रखा गया, समारोह में मौजूद लोग मास्क पहने हुए थे

-पदाधिकारियों, मीडिया के अलावा टाना भगतों के लिए बैठने की अलग व्यवस्था की गई थी

-ड्रोन से निगरानी की जा रही थी

-लोग कैमरे और मोबाइल से हरेक पल को कैद कर रहे थे

-झंडोत्तोलन के बाद भारत माता की जय के नारे लगे

-9 बजकर 5 मिनट पर मुख्यमंत्री का अभिभाषण शुरू हुआ

-पूरे समारोह स्थल के किनारे 9 एलईडी स्क्रीन लगाए गए थे

-पूरे समारोह स्थल को फूलों से सजाया गया था

इसे भी पढ़े : लातेहार: पानी टंकी की सेटरिंग गिरने से तीन मजदूरों की मौत

 

Related Articles

Back to top button