न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पांच घंटे से अधिक समय तक बंद रहा बिरसा चौक गेट, मनरेगाकर्मियों ने सड़क के दोनों ओर बैठकर दिया धरना

21
  • विधानसभा पहुंचने और प्रोजेक्ट भवन पहुंचने के सभी रास्ते रहे बंद
  • 41 दिनों से राज्य भर के मनरेगाकर्मी हैं हड़ताल पर

Ranchi : झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन बुधवार को बिरसा चौक गेट पांच घंटे से अधिक समय तक बंद रहा. झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ के धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर सुबह 11 बजे गेट बंद कर दिया था. शाम 4.30 बजे तक मनरेगाकर्मी बिरसा चौक के दोनों ओर की सड़क के समक्ष डटे रहे और अपने आंदोलन को तेज करने की चेतावनी दी. मनरेगाकर्मी स्थायीकरण और वेतनवृद्धि की मांग को लेकर पिछले 41 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं. सभा के दौरान वक्ताओं ने 26300 रुपये मानदेय देने समेत पांच सूत्री मांगों को जल्द प्रभावकारी करने की मांग की. यह भी कहा गया कि सरकार बेवजह मनरेगाकर्मियों को बर्खास्त कर रही है, जिसे रोका जाये. राज्य भर से आये मनरेगाकर्मियों ने बिरसा चौक के पास आमसभा भी की. सभा की अध्यक्षता अनिरुद्ध पांडेय ने की. सभी जिलों से आये मनरेगाकर्मियों ने सरकार की उदासीनता के प्रति नाराजगी व्यक्त की.

विधानसभा, एचईसी कॉलोनी और प्रोजेक्ट भवन पहुंचना हुआ मुश्किल

बिरसा चौक का गेट बंद रहने से विधानसभा, एचईसी कॉलोनी और प्रोजेक्ट भवन जाने में लोगों को काफी परेशानी हुई. एचईसी परिसर और सेल सैटेलाइट कॉलोनी में अवस्थित स्कूल डीपीएस के खुला रहने से डीपीएस चौक होकर डोरंडा जानेवालों की लंबी भीड़ लगी रही. वहीं, डिबडीह पुल भी आज वाहनों की अधिकता से जाम सा रहा. गेट के बंद रहने से कई बाइक सवार रेलवे ट्रैक पार कर बिरसा चौक पहुंचने की होड़ में लगे रहे.

इसे भी पढ़ें- चार सालों में रघुवर सरकार ने अपने प्रचार-प्रसार में खर्च किए तीन अरब रुपए

इसे भी पढ़ें- विपक्ष ने कहा- पारा शिक्षकों को वार्ता के नाम पर धमका रही सरकार, मंत्री बोलीं- विपक्ष मुद्दे को दे…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: