Education & Career

यूजी नीट मेडिकल प्रवेश परीक्षा 2022 में बायोम इंस्टीट्यूट रांची ने नया कीर्तिमान हासिल किया

Ranchi : बायोम इंस्टीट्यूट के विद्यार्थियों ने एक बार फिर यूजी नीट 2022 में बेहतर प्रदर्शन कर संस्थान का नाम रोशन किया है. विद्यार्थियों की इसी सफलता को शुक्रवार के दिन बायोम इंस्टीट्यूट ने उत्साह के साथ मनाया. शनिवार को बायोम के यूजी नीट 2022 के सफल विद्यार्थियों के लिए डंगराटोली स्थित स्वर्णभूमि बैंक्वेट हॉल में सम्मान समारोह का आयोजन हुआ. इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पहुंचे. उन्होंने यूजी नीट 2022 में संस्था के छात्र आशीष रैंक 165 और ओबीसी रैंक 29 के साथ संस्था के टॉपर को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया. इसके अलावा सफल छात्रों में मोती (रैंक 405, जेनरल रैंक 279), आर्यमन साहू (रैंक 1671, ओबीसी रैंक 460),  शिवम (रैंक 474), वेनू अमरदीप (रैंक 2399, ओबीसी रैंक 710), विष्णु (1138), ज्योति (1149), मोनू (1182), रोशन (1183), हितेश (1639), प्रकृति (2357), राहुल (2646), पंकज (2953), पियुष (3315), सामिया (3533), रवि (3957), सूरज (4930), शौर्य (5233), नैना (6111),  विपिन (6329), इशिता (6598), अर्पणा (6647) वा (6771) और रिवा (7178) को भी राज्य का मान बढ़ाने के लिए सम्मानित किया.

बन्ना गुप्ता ने कहा कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा देश के श्रेष्ठ परीक्षाओं में एक है. 12वीं बोर्ड परीक्षा में सफल होना छात्र जीवन की बड़ी सफलता है. जबकि, अपने लक्ष्य का पीछा करते हुए प्रतियोगिता परीक्षा में सफल होना न केवल अपने दायित्व को पूरा करने जैसा है, बल्कि समय का सटीक उपयोग और अपने लक्ष्य के प्रति सजग रहने की जिम्मेवारी को दर्शाता है.

विशिष्ठ अतिथि राज्यसभा सांसद डॉ महुआ माजी ने विद्यार्थियों को उनकी सफलता के लिए सम्मानित किया. साथ ही उज्ज्वल भविष्य की कामना की. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवा में कदम रखने के लिए विद्यार्थी तैयार हैं. शिक्षा न केवल अच्छा भविष्य देती है. साथ ही अपने कर्म से समाज को खुशहाल रखने की जिम्मेवारी. चिकित्सा सेवा का क्षेत्र कामयाबी का एक ऐसा मंच है, जहां लोगों से अच्छे संपर्क बनते हैं.

सम्मानित अतिथि डायबीटिज केयर सेंटर, रांची के डॉ अजय छाबड़ा ने विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना. कहा कि भावी डॉक्टरों को अगले पांच वर्षों तक जमकर मेहनत करने की जरूरत है.

पल्स हॉस्पिटल के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ दीपक गुप्ता ने समारोह में शामिल होकर विद्यार्थियों की सफलता के लिए शुभकामनाएं दी. उन्होंने विद्यार्थियों को अपने अनुभवों से प्रेरित किया.

मौके पर सर्जन डॉ अजित कुमार भी उपस्थित हुए. उन्होंने विद्यार्थियों को चिकित्सा सेवा के करियर से परिचय कराया. कहा कि मेडिकल व चिकित्सा सेवा से जुड़ने वाले सेवा भाव के सार्थी है. खुद को दूसरों के लिए तैयार रखना होगा.

बायोम इंस्टीट्यूट के संस्थापक सह एमडी पंकज सिंह ने कहा कि विद्यार्थी लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं. मेडिकल प्रवेश परीक्षा में संस्था से जुड़े विद्यार्थियों को शतप्रतिशत सफलता मिली है. बीते वर्षों की तुलना में इस वर्ष भी विद्यार्थियों ने बेहतर रैंक हासिल किया है. विद्यार्थियों की सफलता का श्रेय संस्था के शिक्षकों को जाता है. शिक्षक प्रशांत कौशिक, पीके सौरव, प्रिया, डॉ सुशांत कुमार, रोशन कुमार, रजनीश कुमार, निर्भय सिंह, संतोष कुमार, अभिजीत प्रधान, तनवीर आलम, अनिल कुमार, विमल कुमार शुक्ल, कुमार राहुल, अभिषेक कुमार, रौनक कुमार, डॉ शशिकांत कुमार, अमिताभ मिश्रा, चंदन गुप्ता व अन्य ने विद्यार्थियों का हर एक स्तर पर मूल्यांकन करते हुए मार्गदर्शन किया है.

इस वर्ष संस्था के कुल 902 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे. इनमें से 812 विद्यार्थी यूजी नीट 2022 परीक्षा में शामिल हुए हैं. वहीं,152 विद्यार्थियों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए खुद को मेडिकल कॉलेजों में स्थापित करने लायक बनाया है. इन सभी विद्यार्थियों को देश के सर्वश्रेष्ठ मेडिकल कॉलेज में नामांकन मिलेगा. जल्द ही ऑल इंडिया कोटा और राज्य कोटा के तहत काउंसेलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी. बायोम की ओर से विद्यार्थियों को मेडिकल काउंसलिंग की भी जानकारी दी जायेगी. ताकि, समय रहते विद्यार्थी अपने रैंक के आधार पर बेहतर मेडिकल कॉलेज हासिल कर सकें.

सम्मान समारोह में मुख्य रूप से प्रभात खबर के वाइस प्रेसिडेंट विजय बहादुर, एमडी श्योर सक्सेस सेंटर सुनील जायसवाल, रेडियो खांची के निदेशक डॉ आनंद ठाकुर, चाणक्य आइएएस एकेडमी के निदेशक विनय मिश्रा, साइकोग्राफिक सोसाइटी के निदेशक विकास कुमार समेत अन्य मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – Ranchi: जवाहर विद्या मंदिर श्यामली में मनाया गया एनएसएस का स्थापना दिवस

Related Articles

Back to top button