न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार : गर्मी का कहर, गया में धारा 144 लागू, 22 जून तक राज्य के सभी सरकारी स्कूल बंद

गया, नवादा और औरंगाबाद गर्मी से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले, शिक्षा विभाग ने ऐलान किया है कि 22 जून तक राज्य के सभी सरकारी स्कूल बंद रहेंगे.

398

Patna : बिहार के गया जिले में हीट वेव के कारण प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है. ऐसा पहली बार हो रहा है जब किसी प्रदेश में गर्मी ने हालात इतने खराब कर दिये हों कि प्रशासन धारा 144 लगाने पर विवश हो जाये. आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार बिहार में अब तक 78 लोगों की मौत लू लगने से हो गयी हैं. हालांकि गैर सरकारी आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा है.

mi banner add

तीन दिनों के दौरान बिहार में करीब 183 लोगों की मौत हो चुकी है.  अस्पताल में लू के शिकार सैकड़ों मरीज भर्ती हैं.  इस बीच शिक्षा विभाग ने ऐलान किया है कि 22 जून तक राज्य के सभी सरकारी स्कूल बंद रहेंगे.

खबरों के अनुसार गया, नवादा और औरंगाबाद गर्मी से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं. हालांकि लू की वजह से मौत की खबरें पटना के ग्रामीण इलाकों के अलावा शेखपुरा और मुंगेर से भी मिल रही हैं. सरकार ने लू से बचने के लिए एडवाजरी जारी करते हुए लोगों से कहा है कि जब बहुत जरूरी हो तभी वो घर से निकले. लू से सबसे ज्यादा मौतें 50 से ज्यादा उम्र के लोगों की हुई हैं. इसके लिए गया प्रशासन ने मौसम सामान्य होने तक जिले में धारा 144 लागू कर दी हैं.

गया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने भीषण गर्मी और लू को देखते हुए निर्देश जारी करते हुए कहा है कि मौसम सामान्य होने तक धारा 144 लागू कर दी गयी हैं. यानि इस दौरान कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम, राजनैतिक कार्यक्रम, धरना प्रदर्शन और लोगों के एक जगह जमा रहने पर रोक रहेगी. यानि खुले स्थानों पर कार्यक्रम के लिए ये निषेधाज्ञा लागू रहेगी. यह पहला मौका है कि जब मौसम को लेकर धारा 144 लागू कर दी गयी हैं.

बिहार में जानलेवा गर्मी का कहर, दो दिन में 143 लोगों की गयी जान

मनरेगा योजना सुबह 10.30 बजे के बाद नहीं चलेगी

Related Posts

बाढ़ की मार से बेहाल बिहार, अब तक 104 लोगों की मौत

बाढ़ से 76 लाख 85 हजार से अधिक की आबादी प्रभावित

डीएम ने अपने निर्देश में यह भी कहा कि मनरेगा की कोई योजना सुबह 10.30 बजे के बाद से नहीं चलेगी. कोई भी निर्माण कार्य 11 बजे सुबह से शाम चार बजे तक नहीं किया जायेगा. प्रशासन का मानना है कि निर्माण कार्यों में लगे मजदूर इसके शिकार हो रहे हैं. इस दौरान बाजार बंद रखने का निर्दश जारी किया गया हैं. यानी 11 बजे से शाम चार बजे तक सभी दुकानें बंद रखने का निर्देश हैं.

प्रशासन की अपील, दोपहर में घर से ना निकलें

प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि इस दौरान वे घर में ही रहें और बहुत जरूरी काम पर ही निकले. दोपहर में घर से ना निकले और अधिक मात्रा में पानी का सेवन करें. मगध प्रमंडल के आयुक्त पंकज पाल लू के चपेट आये मरीजों की हालत देखने एनएमसीएच गए और हालात का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने इमरजेंसी वार्ड में भर्ती मरीजों से हाल चाल जाना और व्यवस्थाओं की पूरी जानकारी अस्पताल प्रशासक के अधिकारियों से ली. उन्होंने अस्पताल प्रशासक को कई अतिआवश्यक निर्देश भी दिए.

कहा कि इस भीषण गर्मी में काफी संख्या में लू के चपेट में आने से मौत हुई है. जो बिहार के लिए शॉक है. उन्होंने कहा कि जो आंकड़े मगध के मिल रहे है, वो लगभग 106 मरीज हमारे पास आये है. सभी अभी खतरे से बाहर बताये जा रहे है. इस दुःख की घड़ी में सरकार पूरी तरह उन परिजनों के साथ खड़ी है जिनकी मृत्यु हुई.

इसे भी पढ़ेंःहड़ताल पर सीएम बनर्जी के साथ बातचीत को तैयार डॉक्टर लेकिन स्थान खुद तय करने की रखी शर्त

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: