न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार : ब्रह्मपुर फाल्गुन मेले में पहुंचे तेज प्रताप,  80 हजार में घोड़ा खरीदा

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव  शनिवार शाम बिना किसी को जानकारी दिये बिहार के ब्रह्मपुर में लगने वाले फाल्गुन मेले में पहुंच गये. खबरों के अनुसार यहां तेजप्रताप यादव ने घोड़ों में खासी दिलचस्पी दिखाते हुए घोड़ों पर सवारी की;  

94

 Patna : लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव  शनिवार शाम बिना किसी को जानकारी दिये बिहार के ब्रह्मपुर में लगने वाले फाल्गुन मेले में पहुंच गये. खबरों के अनुसार यहां तेजप्रताप यादव ने घोड़ों में खासी दिलचस्पी दिखाते हुए घोड़ों पर सवारी की;  बता दें कि तेजप्रताप यादव घुड़सवारी के शौकीन हैं. वे शनिवार को फाल्गुन मेले में अपने लिए एक घोड़ा खरीदने पहुंचे थे.  मेले में जैसे ही लोगों ने तेजप्रताप यादव को अपने बीच पाया तो वहां समर्थक जुटने लगे. हालांकि राजद के लोगों को तेजप्रताप यादव के आने की खबर नहीं थी. जानकारी के अनुसार तेजप्रताप ने यहां कई घोड़ों पर सवारी की. आखिरकार यादव को मारवाह के रोकड़ नस्ल का घोड़ा पसंद आ गया,  जिसे उन्होंने खरीद लिया. प्रखंड राजद अध्यक्ष जेंदू यादव ने मीडिया को बताया कि जो घोड़ा तेजप्रताप यादव को पसंद आया, उसके लिए व्यापारी एक लाख रुपए की मांग कर रहा था. बाद में मोलभाव कर सौदा 80 हजार रुपए पर तय हुआ.  बताया गया  है कि जो घोड़ा तेजप्रताप यादव ने खरीदा है, वो अभी बच्चा है और कुछ साल बाद उस घोड़े की कीमत लाखों में पहुंच जायेगी.

इसे भी पढ़ेंः लंदन में दिखा भगोड़ा नीरव मोदी, भारत वापसी पर कहा- नो कमेंट

राबड़ी देवी के निवास पर राजद की अहम बैठक चल रही थी

सूत्रों के अनुसार जहां तेजप्रताप यादव शनिवार को अपने लिए घोड़ा खरीद रहे थे,  वहीं पटना में पूर्व सीएम राबड़ी देवी के निवास पर राजद की अहम बैठक चल रही थी.   राजद की अहम बैठक में तेजप्रताप यादव की गैरमौजूदगी चर्चा का विषय रही. कहा जा रहा है कि ऐश्वर्या राय से तलाक लेने का फैसला करने के बाद से तेजप्रताप यादव और उनके परिवार, पार्टी के बीच दूरी बढ़ती जा रही है.  तेजप्रताप यादव फिलहाल अपने परिवार से अलग रह रहे है. बता दें कि शनिवार को राबड़ी देवी के आवास पर आयोजित बैठक में आगामी चुनाव को देखते हुए अहम फैसला लिया गया. फैसले के तहत पार्टी के सभी टिकट राजद अध्यक्ष लालू यादव के हस्ताक्षर से ही जारी किये जायेंगे.

प्रइसे भी पढ़ेंः शांत किशोर ने नीतीश कुमार को लेकर दिया बड़ा बयान, गरमायी बिहार की सियासत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: