BiharCrime News

 बिहार : नीतीश सरकार की साख को चुनौती, दिन दहाड़े जेवर व्यवसायी के बेटे का अपहरण, डिमांड एक करोड़ रुपये की   

रविवार को कारोबारी का 14 साल का बेटा अपने दोस्त के साथ ग्राउंड में क्रिकेट खेलने जा रहा था. इसी क्रम में कार सवार चार अपराधियों ने उनका रास्ता रोक लिया और हथियार के बल पर दोनों को अपनी कार में खींच लिया.

Patna : बिहार में नयी सरकार बने कुछ ही दिन हुए हैं कि अपराधियों ने नीतीश सरकार को चुनौती दे डाली है. बता दें कि बेगूसराय के एक जेवर कारोबारी के 14 के बेटे को रविवार को दिनदहाड़े अगवा कर लिये जाने की खबर आयी है. जानकारी के अनुसार उसके दोस्त को भी अपहरणकर्ता उठा ले गये थे, लेकिन बाद में उसे घरवालों को यह बताने के लिए छोड़ दिया गया कि उनके बेटे की जान खतरे में है. एक करोड़ की फिरौती मांगने की बात सामने आयी है. इस खबर के फैलते ही प्रशासनिक और राजनीतिक हलकों में सनसनी फैल गयी.

इसे भी पढ़ें :   बिहार  :  गया में मुठभेड़,  माओवादी जोनल कमांडर आलोक यादव सहित तीन ढेर

घटना बेगूसराय जिले के गढ़हारा कॉलोनी की है

यह  घटना बेगूसराय जिले के गढ़हारा कॉलोनी की है.  एक कार पर सवार लोगों ने इलाके के बड़े जूलरी कारोबारी के बेटे को उठा लिया. रविवार को कारोबारी का 14 साल का बेटा अपने दोस्त के साथ ग्राउंड में क्रिकेट खेलने जा रहा था. इसी क्रम में कार सवार चार अपराधियों ने उनका रास्ता रोक लिया और हथियार के बल पर दोनों को अपनी कार में घसीट लिया. हालांकि थोड़ी दूर जाने के बाद जब अपराधियों ने उसके दोस्त को सड़क पर छोड़ दिया.

अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटने पर दोस्त  घर पहुंचा और उसने सारी बात बताई. कारोबारी का बेटा अभी तक अपरहणकर्ताओं के चंगुल मे है.   अपराधियों ने जूलरी कारोबारी को फोन कर बच्चे को छोड़ने के एवज में भारी भरकम फिरौती की मांग की है.  कारोबारी के अनुसार अपराधियों ने फोन कर उनके एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी है.

इसे भी पढ़ें :  बिहार : जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रो महेंद्र प्रसाद सिंह की कोरोना से मौत, नीतीश कुमार ने  शोक संवेदना व्यक्त की

थाने में मामला दर्ज हुआ

अपहरण का मामला सामने आते ही पुलिस हरकत में आ गयी. इस संबंध में परिजनों द्वारा गढ़हारा पुलिस ओपी में  एफआईआर दर्ज कराई गयी है.  बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार ने इस बात की पुष्टि की है.  सदर डीएसपी राजन सिन्हा के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस की टीम छापेमारी कर रही है.

अपहरण से नाराज कारोबारियों ने बाजार बंद कर दिया.  वारदात की खबर मिलने के बाद स्थानीय विधायक राम रतन सिंह परिजनों से मिलने पहुंचे. उन्होंने पुलिस से मांग की है कि कारोबारी के बेटे की जल्द से जल्द सुरक्षित वापसी हो

इसे भी पढ़ें :  केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले, बिहार में भी लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाया जाना चाहिए

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: