न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार: JDU-BJP विवाद के बीच डैमेज कंट्रोल में जुटे एनडीए नेता

गठबंधन में सब कुछ ठीक है, नीतीश हमारे नेता-पासवान

644

Patna: लोकसभा चुनाव के बाद लेकिन सरकार में जेडीयू के शामिल नहीं होने के बाद से बिहार में दोनों पार्टियों में टकराव की स्थिति दिख रही है. बिहार में मंत्रिमंडल का विस्तार भी हुआ, जिसमें जेडीयू कोटे से मंत्री बनाये गये.

हालांकि, टकराव की बात से इनकार करते हुए कहा गया कि बीजेपी कोटे से मंत्री बाद में शपथ लेंगे. लेकिन गठबंधन में तनाव नजर आ रहा है.

इसे भी पढ़ेंःTMC नेताओं के BJP में शामिल होने को लेकर डैमेज कंट्रोल में जुटी पार्टी

इन सबके बीच एनडीए के नेता डैमेज कंट्रोल में जुटे दिखाई देते हैं. केंद्रीय मंत्री और लोजपा प्रमुख राम विलास पासवान ने रविवार को कहा कि बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सब कुछ ठीक है.

और नीतीश कुमार राज्य में हमारे नेता हैं. उन्होंने जद(यू) नेता के केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल नहीं होने के फैसले को भी ज्यादा तवज्जो नहीं देने की बात कही.

नीतीश हमारे नेता- पासवान

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, “राजग में सब कुछ ठीक है. नीतीश कुमार हमारे नेता हैं. बहुत सारे निहितार्थ नहीं निकाले जाने चाहिए. उन्होंने (नीतीश) भी कहा है कि वह राजग में थे, हैं और रहेंगे. और, मैं वहां मजबूती देने वाली शक्ति के रूप में हूं ही.”

SMILE

यह पूछे जाने पर कि क्या वह कुमार को अपना रुख बदलकर मोदी सरकार में शामिल होने के लिये मनाएंगे, पासवान ने कहा, “वह (कुमार) अपने फैसले करने में सक्षम हैं. इससे भी ज्यादा समस्या कहां है जब उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया कि वह पूरी तरह राजग के साथ हैं.”

इसे भी पढ़ेंःप. बंगालः ‘जय श्री राम’ पर सियासत गरम, ममता बनर्जी का आरोप- धर्म और राजनीति को मिला रही BJP

मंत्रिमंडल विस्तार पर गोलमटोल जवाब

लोकजनशक्ति पार्टी के नेता राज्य मंत्रिमंडल में हुए विस्तार से जुड़े सवाल को टाल गए. लोजपा के किसी नेता को रविवार को हुए विस्तार में शामिल नहीं किया गया है. जबकि उसके एक मात्र मंत्री पशुपति कुमार पारस लोकसभा के लिये निर्वाचित हो चुके हैं.

पासवान ने दावा किया, “मैं आपको बताऊं, जब (नीतीश) कुमार ने राजग सरकार बनाई थी तो मैंने उनसे यह अनुरोध नहीं किया था कि वह पारस को मंत्री बनाएं, क्योंकि वह मेरा छोटा भाई है. उन्होंने (कुमार ने) ही जोर दिया था कि कुमार के अनुभव और वरिष्ठता के मद्देनजर उन्हें राज्य मंत्रिमंडल में निश्चित ही लोजपा का प्रतिनिधित्व करना चाहिए.”

इसे भी पढ़ेंःदर्द ए पारा शिक्षक: भाई के दिए 15 किलो चावल से हो रहा गुजारा, प्रीतम स्कूल के बाद मजदूरी कर चुकाते हैं उधार  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: