Bihar

बिहारः बर्ड फ्लू के कारण 60 से अधिक कौए की मौत

Patna: बिहार में बर्ड फ्लू के कारण मोर और मुर्गियों की मौत के बीच प्रदेश के विभिन्न भागों में 60 से अधिक कौए की मौत हो गयी है. मुंगेर जिला में बर्ड फ्लू को देखते हुए 2609 मुर्गियों को नष्ट किए जाने के साथ इस जिले में करीब 45 कौए की भी मौत हो गयी है. मुंगेर जिला पशु पालन पदाधिकारी डॉ श्रवण कुमार भगत ने बताया कि 21 दिसंबर को जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद से अब तक 2609 मुर्गियों को नष्ट किया जा चुका है.

60 कौए की मौत

पशु पालन पदाधिकारी ने बताया कि मुंगेर जिला के विभिन्न भागों में अबतक करीब 45 कौए की मौत हो गयी है. मुजफ्फरपुर जिले के सकरा प्रखण्ड के चंदनपट्टी गांव में 12 कौए मृत पाए गए. कौओं की मौत की जांच के लिए रविवार को चंदनपट्टी गांव पहुंचे. मुजफ्फरपुर जिला डॉक्टर मनोज कुमार ने बताया कि मृत कौए के सैंपल को जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा. इधर पटना जिले के बिक्रम प्रखंड स्थित एक मुर्गी फॉर्म में लगभग 400 मुर्गियों के मृत पाये जाने के साथ जिले में करीब 10 कौओं की भी मौत हुई है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

ठंड से हुई मौत !

The Royal’s
Sanjeevani

पशु स्वास्थ्य एवं उत्पादन संस्थान की निदेशक अलका शरण ने दावा किया कि प्रदेश में कौए की मौत बर्ड फ्लू से नहीं, बल्कि ठंड लगने के कारण हुई है. मुंगेर और पटना जिले से मृत कौओं का सैंपल जांच के लिए भोपाल स्थित राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान(एनआईएचएसएडी) भेजा गया है. लेकिन सैंपल के पोजिटिव होने की कोई रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है.

उल्लेखनीय है कि प्रदेश की राजधानी पटना स्थित संजय गांधी जैविक उद्यान में बर्ड फ्लू के कारण मोर की मौत के बाद 25 दिसंबर से उसे बंद कर दिया गया है. संजय गांधी जैविक उद्यान में एच5एन1 वायरस के कारण छह मोर की मौत हो चुकी है.

इसे भी पढ़ेंः मिशन 2019ः सोमवार को तेजस्वी के आवास पर महागठबंधन के घटक दलों की बैठक

Related Articles

Back to top button