Bihar

Bihar MLC Election: तारिक अनवर की जगह समीर सिंह होंगे कांग्रेस उम्मीदवार

New Delhi: बिहार विधान परिषद की खाली हुई नौ सीटों पर चुनाव होना है. इनमें से एक पर कांग्रेस पार्टी चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस ने गुरुवार को अपना उम्मीदवार बदलते हुए समीर सिंह के नाम घोषणा की. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष समीर सिंह को पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर के स्थान पर उम्मीदवार बनाया गया है। तकनीकी कारणों से कांग्रेस को नए प्रत्याशी के नाम की घोषणा करनी पड़ी है.

इसे भी पढ़ेंःबड़ी राहतः स्कूल फीस को लेकर सरकार का आदेश, ट्यूशन फीस के अलावा किसी तरह की फीस नहीं लें स्कूल

दिल्ली के वोटर हैं तारिक अनवर

बता दें कि 6 जुलाई को होने वाले चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी थी. पार्टी ने कहा था कि तारिक अनवर कांग्रेस की तरफ से एमएलसी प्रत्याशी होंगे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी उनके नाम पर मुहर लगा दी थी. हालांकि नामांकन से ठीक पहले उन्हें अपना उम्मीदवार बदलना पड़ा है. दरअसल, तारिक अनवर का नाम बिहार की मतदाता सूची में नहीं होने की वजह से ये परेशानी हुई है. तारिक अनवर के पास दिल्ली का वोटर कार्ड है. ऐसे में वे बिहार विधान परिषद का चुनाव नहीं लड़ सकते हैं.  बता दें कि बिहार की कटिहार लोकसभा सीट से कई बार सांसद रहे तारिक अनवर कांग्रेस में शामिल होने से पहले वे एनसीपी में थे और शरद पवार की पार्टी से राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके हैं.

इसे भी पढ़ेंःMega Sports Complex – 2: सरकार खर्च करती थी सालाना 3.50 करोड़, अब JSSPS का खर्चा है 10 करोड़

जेडीयू-राजद के खाते में 3-3 सीट

बता दें कि 6 जुलाई को 9 सीटों पर होनेवाले एमएलसी चुनाव में जेडीयू व आरजेडी के खाते में तीन-तीन, बीजेपी के खाते में दो और कांग्रेस के खाते में एक सीट जानी हैं. जेडीयू ने अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता आरसीपी सिंह ने कहा कि, पार्टी ने तीन सदस्यों का नाम एमएलसी (MLC) पद के लिए तय किया है. इसमें गुलाम गौस, भीष्म सहनी और कुमुद वर्मा का नाम शामिल है.

वहीं, रिपोर्ट्स के मुताबिक, जल्द ही आरजेडी भी अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर सकती है. उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा में मौजूदा समय में आरजेडी के 79, जेडीयू के 70 और बीजेपी के 54 सदस्य हैं. वहीं, मंगलवार को आरजेडी को बड़ा झटका लगाते हुए पांच एमएलसी ने पार्टी छोड़ दी और वह जेडीयू में शामिल हो गये.

इसे भी पढ़ेंःमारवाड़ी कॉलेज, डोरंडा कॉलेज सहित रांची विवि के 6 कॉलेजों के 150 कॉन्ट्रैक्चुअल असिस्टेंट प्रोफेसर एक साल से कर रहे मानदेय का इंतजार

Telegram
Advertisement

4 Comments

  1. I love looking through a post that can make people think. Also, many thanks for permitting me to comment!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close