न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फेरी सेवा बंद टूटा झारखंड से बिहार का सम्पर्क, करीब 7 से 8 हजार लोग रोजाना करते है सफर

पिछले तीन दिनों से साहिबगंज मनिहारी फेरी सेवा व यात्री सेवा बन्द, 10 हजार यात्रियों सहित लाखो का कारोबार प्रभावित

926

Sahebganj : जिले में पिछले तीन दिनों से साहिबगंज मनिहारी फेरी सेवा व यात्री सेवा बन्द है. जिससे हजारो लोगो पर इसका प्रभाव पड़ा है. हर दिन साहिबगंज मनिहारी फेरी सेवा से लगभग 7 से 8 हजार लोग सफर करते है. वही लग्न का समय रहने के कारण हर दिन दर्जनों परिवारो को लम्बी दुरी तय करनी पड़ती है बाराती ले जाने व शादी ब्याह सहित अन्य शुभ अवसर पर. वही जान जोखिम में डालकर हर दिन सैकड़ो यात्री नाव के सहारे यात्रा करने को मजबूर है.


लाखों का कारोबार प्रभावित

मानसून की बारिस होने व गंगा का हर घंटे जलस्तर बढ़ने से यात्रियों को जान का खतरा बना रहता है. गंगा उफान पर है फेरी सेवा बन्द रहने व यात्रियों को नाव का सहारा लेने से बीच गंगा में कब क्या अनहोनी हो जाए किसी को पता भी नही चलेगा. परमिट नही रहने के कारण एक जुलाई को सुबह चली जहाज लालबथानि गर्म पहाड़ समीप से वापस समदा घाट आ गया था. फेरी सेवा बन्द रहने से सैकड़ो लोग जो राजेश यादव के फेरी सेवा से गरीब असहाय लोग हर दिन फ्री में आना जाना करते थे उनसब पर अब ग्रहण सा लग गया है. साहिबगंज मनिहारी फेरी सेवा के लेसी राजेश यादव उर्फ़ दाहू यादव के लेसी में हर दिन सैकड़ो गरीब असहाय लोग सहित दर्जनों वाहन फ्री में ही आना जाना कर लिया करते थे, जिन वाहन मालिक के पास पैसे नही रहने पॉकेट मरा जाने समस्या वालो के लिए फ्री में ही लेसी राजेश यादव व उसकी टीम फ्री में ही मनिहारी व साहिबगंज आना जाना करा दिया करते थे अब उन सभी गरीब असहाय लोगो को काफी दिक्कते हो रही है. मिली जानकारी के अनुसार बिहार सरकार ऐसे लोगो को फेरी सेवा लेसी दे दिए है जिनका एक भी नाव तक नही है जहाज तो दूर की बात है. और अब बिहार सरकार की और से फेरी सेवा में कार्यरत जहाजो को पकड़ा जा रहा है जिससे हर दिन लगभग 10 हजार यात्रियों सहित लाखो का कारोबार प्रभावित हो रहा है वही झारखण्ड बिहार सरकार को हर दिन राजस्व का नुकसान हो रहा है फिर भी बिहार झारखण्ड की सरकार तीन दिन से बन्द है और दोनों राज्यो की सरकार व अधिकारियो को इसकी कुछ नही पड़ी है. यात्री परेशान है सरकार को राजस्व का नुकसान हो रहा है और किसी को हजारो यात्रियों की परेशानी नही दिख रही है.

8fae30ef-c407-4d32-b8dc-410509c11d8d
10 हजार लोग और लाखों का कारोबार प्रभावित

 

जहाज का परमिट नही रहना मुख्य कारण
वही पूर्व लेसी राजेश यादव उर्फ़ दाहू यादव ने कहा कि सहिबगंज मनिहारी अंतरराज्जीय फेरी सेवा पूर्व में नाव यातायात समिती के जिम्मे था. लेकिन एक जुलाई से तीन माह तक बिहार सरकार ने ये सेवा गलत तरीके एक ऐसे यातायात प्रबन्धक को दे दिया जिसके पास एक नाव तक नही जहाज तो दूर की बात है. एक जुलाई से हजारो यात्री नाव के सहारे जान जोखिम में डालकर यात्रा कर रहे है. गंगा का जलस्तर उफान पर है जिससे नाव से यात्रा करना बड़ी घटना को आमन्त्रण देना है. क्यों नही चल रहा है फेरी सेवा जहाज का परमिट नही रहना मुख्य कारण बताया जा रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: