BiharTOP SLIDER

बिहार को मिला सोन नदी पर नये कोईलवर पुल का तोहफा, पटना, आरा, बक्सर, छपरा के बीच यातायात हुआ आसान

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने किया उद्घाटन, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वर्चुअल तौर पर मौजूद थे

Patana: बिहार के रहनेवाले लोगों के लिए एक गुड न्यूज है. सोन नदी पर 158 वर्षों बाद बिहार को नये पुल की सौगात मिली है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कोईलवर में सोन नदी पर बने नये कोईलवर पुल का उद्घाटन किया. कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश वर्चुअल तौर पर मौजूद रहे.

इसे भी पढ़ें :पाकिस्‍तान को फिर सर्जिकल स्ट्राइक का डर, सीजफायर तोड़ा, जवाब में दो पाकिस्‍तानी सैनिक ढेर  

कार्यक्रम में केंद्रीय राज्य मंत्री आरके सिंह और जनरल (डॉ) वीके सिंह (सेवानिवृत्त), उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह, सांसद रामकृपाल यादव, पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडेय, मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह, विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह, अपर मुख्य सचिव अमृतलाल मीणा, एनएचएआइ के क्षेत्रीय पदाधिकारी लेफ्टनेंट कर्नल चंदन वत्स मौजूद दिखे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें :जेबीवीएनएल की डीवीसी पर निर्भरता होगी खत्म, निगम जल्द बहाल करेगा अपनी बिजली व्यवस्था

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

1.528 किमी लंबा है पुल

उदघाटन के साथ ही नये कोईलवर में पर आवागमन शुरू हो गया है. इस पुल के बन जाने से दक्षिण व मध्य बिहार के शहरों – पटना, आरा, बक्सर, छपरा के बीच यातायात सुगम हो गया है. पुल की लंबाई 1.528 किमी है. पुल के डेक की चौड़ाई 16.0 मीटर है तथा ऊपर में 1.5 मीटर का फुटपाथ भी है. पुल के 74 स्पैन हैं. प्रत्येक स्पैन की लंबाई 41.3 मीटर है. पीयर में 432 पाइल हैं.

6 लेन वाले पुल पर फिलहाल तीन लेन परिचालन हुआ शुरू

6 लेन वाले इस पुल पर अभी फिलहाल तीन लेन पर ही परिचालन शुरू किया जा रहा है. शुरू में इसे 4 लेन में ही बनाया जाना था लेकिन भविष्य में जाम की स्थिति को देखते हुए इसे 6 लेन बनाने पर सहमती बन गई.
वहीं नया पुल अभी वन वे ही रहेगा. आरा से पटना आने वाले ट्रैफिक द्वारा इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा. पटना से आरा जाने के लिए पुराने कोईलवर पुल का ही इस्तेमाल करना होगा.

इसे भी पढ़ें :साहेबगंज में गंगा से कटाव और गाद की समस्या के निदान के लिये अनंत ओझा ने केंद्र सरकार से की पहल की मांग

Related Articles

Back to top button