न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार : चुने गए 40 सांसदों में पांच विधायक और तीन MLC शामिल 

705

Patna : बिहार से 17वीं लोकसभा के लिए चुने गए 40 सांसदों में राज्य विधानमंडल के आठ सदस्य शामिल हैं. इनमें से तीन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कैबिनेट का हिस्सा हैं. सांसद चुने गए आठ लोगों में से पांच विधानसभा जबकि तीन विधान परिषद के सदस्य हैं.

इसे भी पढ़ें- बिहार में सबसे अधिक वोटरों ने दबाया नोटा, जानें कहां कितने लोगों ने चुना नोटा का विकल्प

ये पहुंचे संसद

दो विधान पार्षद जद (यू) के राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और लोजपा के पशुपति कुमार पारस बिहार कैबिनेट के सदस्य हैं. लोकसभा चुनाव में ललन सिंह मुंगेर सीट से जीते हैं, जबकि पारस अपने भाई एवं लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान की सीट हाजीपुर (सु) से सांसद बने हैं.

वहीं, कैबिनेट के तीसरे सदस्य जद (यू) के दिनेश चन्द्र यादव सहरसा जिले में सिमरी बख्तियारपुर से विधायक हैं. उन्होंने मधेपुरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव जीता है. इस सीट से उन्होंने दो दिग्गजों राजद के शरद यादव और जन अधिकारी पार्टी के पप्पू यादव को हराया है.

इसे भी पढ़ें- दस सालों में 44 प्रतिशत बढ़ी करोड़पति व आपराधिक पृष्ठभूमि वाले सांसदों की संख्या

कांग्रेस विधायक मोहम्मद जावेद भी संसद पहुंचे

जहानाबाद संसदीय क्षेत्र से विधान पार्षद चन्देश्वर प्रसाद चन्द्रवंशी ने जीत हासिल की है. हालांकि वह करीब 1,000 वोटों के अंतर से ही जीते हैं.

बिहार से संसद पहुंचने वाली एक अन्य विधायक हैं जद (यू) की कविता सिंह. वह सीवान संसदीय क्षेत्र से चुनी गई हैं. 33 वर्षीय सिंह प्रदेश से निर्वाचित सबसे कम उम्र की सांसद हैं. संसद पहुंचने वाले जद (यू) के अन्य दो विधायक हैं गिरधारी यादव और अजय मंडल. ये लोग क्रमश: बांका और भागलपुर से निर्वाचित हुए हैं.

इतना ही नहीं किशनगढ़ से कांग्रेस विधायक मोहम्मद जावेद भी संसद पहुंचे हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Related Posts

मुंगेर में हाइ प्रोफाइल डबल मर्डरः #RJDMLA की भतीजी का बॉयफ्रेंड के साथ मिला शव

पहली नजर में पुलिस मान रही आत्महत्या, प्यार में असफल होने पर जाने देने की आशंका

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: