BiharMain SliderNational

बिहार :  243 सीटों के लिए 28 अक्तूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होंगे चुनाव

patna : बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल बज चुका है. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस वार्ता कर विधानसभा चुनावों के के बारे में जानाकरी दी. उन्होंने कहा कि विश्व के 70 देशों में कोविड की वजह से चुनाव टाल दिये गये हैं. पर हम चुनाव कराने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव नागरिकों का लोकतांत्रिक अधिकार है. इसलिए चुनाव कराने जरूरी हैं.उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए विशेष सतर्कता बरती जायेगी. इस बार चुनाव के लिए एक लाख से ज्यादा पोलिंग स्टेशन होंगे. बता दें कि राज्य में 29 नवंबर तक विधानसभा का कार्यकाल है.

इसे भी पढ़ें :भारत ने पृथ्वी-2 मिसाइल का किया परीक्षण, ड्रैगन को मिलेगा जवाब

मतगणना 10 नवंबर को

चुनाव तीन चरण में होंगे. पहले चरण का चुनाव 28 अक्तूबर को होगा. जबकि दूसरे चरण के चुनाव की तिथि तीन नवंबर तय की गयी है. सात नवंबर को तीसरे चरण का चुनाव होगा. मतगणना दस नवंबर को होगी. पहले चरण में 16 जिलों में चुनाव होंगे जबकि दूसरे चरण में 17 जिलों में चुनाव कराये जायेंगे. दूसरे चरण में 94 सीटों पर चुनाव होगा. तीसरे चरण में 15 जिलों में 78 सीटों पर चुनाव कराय़े जायेंगे. पहले चरण की अधिसूचना एक अक्तूबर को जारी होगी.

पहले चरण का मतदान – 28 अक्टूबर
भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, खगड़िया, बेगूसराय, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार

दूसरे चरण का मतदान – 3 नवंबर
उत्तर बिहार के जिलों मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, पश्चिमी चंपाण, पूर्वी चंपारण, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल और मधेपुरा जिले में

तीसरे चरण का मतदान – 7 नवंबर
पटना, बक्सर, सारण, भोजपुर, नालंदा, गोपालगंज, सिवान, बोधगया, जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास

इसे भी पढ़ें :कृषि विधेयकों के खिलाफ किसान संगठनों का भारत बंद आज, पंजाब हरियाणा सहित कई राज्यों में होगा असर

243 सीटों पर होना है चुनाव

बिहार में इस बार 243 सीटों पर चुनाव होना है. इसके लिए विशेष तैयारियां की जा रही है. चुनाव के लिए लोगों के हेल्थ और सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जायेगा. इसके लिए आयोग ने पूरी तैयारी की है. 7 लाख से ज्यादा सैनिटाइजर और 46 लाख से ज्यादा मास्क उपलब्ध कराये जायेंगे. इस बार बड़ी सभाओं पर रोक लगायी गयी है. राजनीतिक दल वर्चुअल रैली और सभा कर सकेंगे. चुनाव लड़नेवाले प्रत्याशी ऑनलाइन भी नामांकन भर सकेंगे. कोरोना संकट के बीच देश में यह पहला चुनाव है. इस चुनाव में देशभर की नजर होगी. चुनाव में एक बार फिर से मुकाबला नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए बनाम तेजस्वी की अगुवाई में महागठबंधन के बीच है.

 

पोलिंग बूथ की संख्या बढ़ायी गयी, सात करोड़ मतदाता होंगे

 

चुनाव के मद्देनजर पोलिंग स्टेशन की संख्या और मैनपावर को बढ़ाया गया है. इस बार राज्य में सात करोड़ से अधिक वोटर मतदान करेंगे. एक बूथ पर सिर्फ एक हजार ही मतदाता होंगे.  इतना ही नहीं इस बार चुनाव में 6 लाख पीपीई किट राज्य चुनाव आयोग को दी जाएंगी, 46 लाख मास्क का इस्तेमाल भी होगा. साथ ही 6 लाख फेस शील्ड को उपयोग में लाया जाएगा.चुनाव आयोग से मिली जानकारी के अनुसार राज्य में 18 लाख से अधिक प्रवासी मजदूर हैं, इनमें से 16 लाख लोग वोट डाल सकते हैं. 80 साल की उम्र तक के लोग पोस्टल बैलेट से वोट डाल पाएंगे.

इसे भी पढ़ें :Bengal: पंडालों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन की अनुमति नहीं

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: