BiharBihar Election 2020

बिहार चुनाव : चिराग पासवान ने कहा, पिता की सलाह पर ही लोजपा अकेले उतरी, अमित शाह को बताया गया था

पिता ने मुझसे कहा था कि यदि नीतीश कुमार फिर से राज्य की सत्ता संभालते हैं तो तुम्हें आने वाले 10-15 सालों में इसका पछतावा होगा

विज्ञापन

Patna : लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने कहा कि पिता की सलाह पर ही उन्होंने बिहार में राजग से अलग होकर चुनाव में उतरने का फैसला किया है.  चिराग पासवान ने एक निजी टीवी चैनल से बातचीत करते हुए कहा कि उनके पिता रामविलास पासवान ने ही उन्हें बिहार में चुनाव में अकेले उतरने की सलाह दी थी.

पिता ने मुझसे कहा था कि यदि नीतीश कुमार फिर से राज्य की सत्ता संभालते हैं तो तुम्हें आने वाले 10-15 सालों में इसका पछतावा होगा क्योंकि तुम्हारी वजह से राज्य को अगले और पांच साल पीड़ित होना पड़ेगा.

चिराग के अनुसार उन्होंने इस फैसले की जानकारी केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी दी थी, लेकिन उन्होंने इस पर कुछ नहीं कहा. चिराग पासवान बोले, मेरे पिता ने मुझसे कहा था कि अगर लोजपा को मजबूत करना चाहते हो तो बिहार विधानसभा चुनाव में अकेले उतरना ही अच्छा है. इससे पार्टी और संगठन को मजबूत होगा.

advt

इसे भी पढ़े :   बिहार चुनाव : चिराग पासवान का तंज, नीतीश कुमार को पीएम मोदी की तस्वीर की जरूरत, हमें नहीं, मोदी मेरे अभिभावक

अकेले उतरने की बात पर अमित शाह ने कुछ नहीं कहा

चिराग पासवान ने दावा किया कि जब वह अमित शाह से मिले तो उन्होंने उनसे कहा कि राजग के एजेंडे में बिहार फर्स्ट- बिहारी फर्स्ट को शामिल किया जाये.  इसके अलावा यह भी कहा था कि राजग में जितनी सीटें उन्हें ऑफर की जा रही थी लोजपा स्वीकार नहीं कर पायेगी.  अमित शाह से कहा गया कि लोजपा जदयू प्रत्याशियों के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारेगी.

यह सुनकर भी अमित शाह ने कुछ नहीं कहा.  वहां भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा भी थे. इस क्रम में चिराग पासवान ने कहा कि वह नीतीश कुमार के खिलाफ मजबूती से लड़ रहे हैं. साथ ही यह भी कहा कि भाजपा के प्रति गठबंधन धर्म निभाने के लिए लोजपा प्रतिबद्ध हैं. चिराग के अनुसार फैसला लेने से पहले ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से सलाह-मशविरा किया था.

इसे भी पढ़े : बिहार चुनाव पर नक्सली हमले का साया! सुरक्षा बलों का नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन जंगल अभियान

adv

रामविलास पासवान कभी नहीं चाहते थे कि लोजपा राजग से अलग हो : सुशील  मोदी

जान लें कि बिहार के उपमुख्यमंत्री और सुशील कुमार मोदी सार्वजनिक रूप से कह चुके हैं कि रामविलास पासवान कभी नहीं चाहते थे कि लोजपा राजग से अलग हो. कहा कि अगर रामविलास पासवान होते तो लोजपा राजग के घटक दल के रूप में बिहार विधानसभा चुनाव में  आती ‘मालूम हो कि बिहार विधानसभा चुनाव में लोजपा अकेले उतरी है. वह लगभग 143 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है.  बता दें कि 2005 में हुए विधानसभा चुनाव में लोजपा अकेले चुनाव में उतरी थी, उसने 29 सीटें जीती थी.

इसे भी पढ़े : नीतीश कुमार का लालू पर निशाना, कहा, वे हर समाज की सेवा करते हैं, लेकिन कुछ लोगों के लिए परिवार ही सबकुछ  

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button