Bihar

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने लिया वीआरएस, राजनीतिक पारी की है तैयारी

एसके सिंघल को बिहार के पुलिस महानिदेशक के पद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है.

विज्ञापन

Patna: बिहार में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने है. चुनाव से ठीक पहले राज्य के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने मंगलवार को अचानक वीआरएस ले लिया है. उन्होंने वीआरएस के लिए आवेदन दिया था, जिसे स्वीकृति मिल गयी है. बिहार के गृह विभाग द्वारा मंगलवार की देर शाम जारी एक अधिसूचना में कहा गया है कि राज्यपाल फागू चौहान ने पांडेय के अनुरोध को मंजूरी दे दी है.

इसे भी पढ़ेंः मुंबई पर बारिश की आफत, लगातार बारिश से रेलवे ट्रैक सहित सबवे तक पानी में डूबे

बताया जा रहा है कि गुप्तेश्वर पांडेय ने यह कदम सीएम नीतीश कुमार के निर्देश पर उठाया है. और अब वो अपनी राजनीतिक पारी शुरू करने की तैयारी में हैं. अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने बताया कि भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी एसके सिंघल को बिहार के पुलिस महानिदेशक के पद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. सिंघल वर्तमान में महानिदेशक (होमगार्ड्स) के पद तैनात हैं .

advt

लड़ सकते हैं चुनाव

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, 1987 बैच के आइपीएस अधिकारी पांडेय बिहार विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं. उनके इस्तीफे और वीआरएस की खबर बीते कई दिनों से चल रही थीं. दो दिन पहले उन्होंने अपने गृह जिला बक्सर का भी दौरा किया था, और जेडीयू के जिला अध्यक्ष से मिले थे. इसके बाद पटना में भी उन्होंने कुछ नेताओं से भेंट की थी.

पांडेय हाल में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार के नीतीश कुमार सरकार पर हमले को लेकर बिहार सरकार के बचाव के लिए सुर्खियों में रहे थे. औऱ अब वीआरएस के बाद ये करीब-करीब तय माना जा रहा है कि वो विधानसभा चुनाव लड़ेंगे, और इसके साथ ही अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करेंगे.

बता दें कि गुप्तेश्वर पांडेय ने 2009 में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए समय से पहले सेवानिवृत्ति ले ली थी, लेकिन बाद में राज्य सरकार ने उनकी वीआरएस याचिका स्वीकार नहीं की और उन्हें पुलिस सेवा में बहाल कर दिया था.

इसे भी पढ़ेंः  सरकार ठोक बजाकर JPSC और JSSC की बड़े पैमाने पर निकालेगी नियुक्तियांः हेमंत सोरेन

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button