BiharLead News

बिहार : चमकी बुखार ने ली एक और बच्ची की जान

Muzaffarpur : सरकार के लाख दावों के बावजूद राज्य में चमकी बुखार से बच्चों की जान जा रही है. मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्पताल के पीकू वार्ड में ईलाज के दौरान एक बच्ची की चमकी बुखार से मौत हो गयी. मुजफ्फरपुर जिले के सकरा क्षेत्र की सात वर्षीय बच्ची शिवानी कुमारी ने AES से जंग हार गयी. और दम तोड़ दिया.

इसे भी पढ़ें : परिवारिक कलह से तंग महिला 4 बच्चियों के साथ तालाब में कूदी , 3 मासूमों की मौत

आपको बता दें कि एसकेएमसीएच में AES चमकी बुखार से मौतों का आंकड़ा अब बढ़कर कुल 11 हो गया है. एसकेएमसीएच के अस्पताल अधीक्षक डां. बीएस झा ने कहा कि चमकी बुखार के अब 4 नए केस बढ़ने के बाद एसकेएमसीएच के पीकू वार्ड में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 51 हो गयी है. वहीं अब तक इससे 11 बच्चों की मौत हो गयी है.

इसे भी पढ़ें : Ranchi News : हेहल अंचल क्षेत्र में आज नहीं चलेगा अतिक्रमण हटाओ अभियान

चमकी बुखार होता क्या है ?

चमकी बुखार (एन्सेफलाइटिस) मस्तिष्क को कवर करने वाले ऊतक या झिल्ली की परतों में होने वाली सूजन है. इसे तीव्र वायरल इन्सेफेलाइटिस या असेप्टिक एन्सेफलाइटिस और हिंदी में चमकी बुखार के रूप में भी जाना जाता है. मस्तिष्क में सूजन या जलन हो सकती है. यह एक दुर्लभ बीमारी है. और बिहार में हर साल सैकड़ों बच्चों की मौत हो जाती है. इस बीमारी के मामले ज्यादातर अप्रैल से जून के दौरान होते हैं. जो मुख्य रूप से कम उम्र के बच्चों में होते हैं.

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह के दवा कारोबारी नवीन प्रकाश की सड़क हादसे में मौत, पत्नी व बच्चा जख्मी

Related Articles

Back to top button