Bihar

बिहार: RJD के बाद लोजपा ने भी विस चुनाव को लेकर जताई चिंता, इलेक्शन के पक्ष में JDU

विज्ञापन

Patna: कोविड-19 महामारी फैलने के बीच बिहार विधानसभा चुनाव कराये जाने पर विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने चिंता जताई थी. इसके बाद अब भाजपा के सहयोगी दल लोजपा ने कहा है कि यह चुनाव लोगों की जान को खतरे में डाल सकता है. साथ ही लोजपा ने भी चिंता जताते हुए कहा कि चुनव में मतदान प्रतिशत भी बहुत कम रह सकता है.

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि न सिर्फ बिहार, बल्कि पूरा देश कोरोना वायरस से प्रभावित है. इस महामारी ने केंद्र और बिहार के वित्त को प्रभावित किया है. इन सबके बीच चुनाव कराने से राज्य पर और अधिक वित्तीय बोझ बढ़ेगा.

इसे भी पढ़ें- बिहार: 24 घंटे में Corona के 352 नये केस, दो और लोगों की मौत

advt

लोजपा व JDU के बीच एक बार फिर दरार उभर कर आयी सामने

पासवान की इस टिप्पणी से सहयोगी दलों, खासतौर पर जनता दल (यूनाइटेड) और उनकी पार्टी के बीच दरार एक बार फिर उभर कर सामने आ गयी है. उनकी टिप्पणी के बाद, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नीत जद(यू) ने फौरन ही प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि समय पर चुनाव होना ‘‘सुशासन के हित में’’ होगा.

हालांकि, भाजपा की प्रतिक्रिया कहीं अधिक नपी-तुली आई और पार्टी ने कहा कि चुनाव कराना चुनाव आयोग का विशेषाधिकार है. उल्लेखनीय है कि राज्य में अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं. वहीं, चुनाव आयोग ने इसके कार्यक्रम के बारे में अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है.

पासवान ने अपने ट्वीट में कहा कि चुनाव आयोग को व्यापक चर्चा के बाद निर्णय लेना चाहिए. कहीं ऐसा न हो कि बड़ी आबादी खतरे में पड़ जाए. इस महामारी के बीच यदि चुनाव हुए तो मतदान प्रतिशत भी बहुत कम रहेगा, जो लोकतंत्र के लिये अच्छा नहीं है. हालांकि, उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी चुनाव के लिये तैयार है.

इसे भी पढ़ें- CoronaUpdate: अमेरिका में संक्रमण का भयानक रूप, एक दिन में 70 हजार नये केस

adv

क्या कहना था राजद का

कुछ दिन पहले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव ने कहा था कि महामारी के दौरान चुनाव कराना सही नहीं होगा और उन्होंने राज्य में स्थिति को भयावह बताया था. उन्होंने कहा था कि राज्य में स्थिति भयावह है और महामारी के बीच लोगों को खुद के भरोसे छोड़ दिया गया है.

उन्होंने नियमित रूप से डिजिटल रैलियां करने को लेकर जद(यू)-भाजपा गठबंधन की भी आलोचना की थी, जिनके तहत इन दलों के नेता समूचे राज्य के कार्यकर्ताओं के साथ संवाद कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीरः नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश नाकाम, दो आतंकवादी ढेर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button