Bihar

बिहार : 16 जिलों में फैले चमकी बुखार से 136 बच्चों की मौत

Patna : बिहार के 16 जिलों में चमकी बुखार से जून महीने की शुरुआत से 600 से अधिक बच्चे प्रभावित हुए हैं. जिनमें से 136 की मौत हो गई. यह जानकारी राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने दी. विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार एक जून से राज्य में एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के 626 मामले दर्ज हुए. इसके कारण मरने वालों की संख्या 136 पहुंच गई.

मुजफ्फरपुर जिले में सबसे अधिक अब तक 117 की मौत हुई है. इसके अलावा भागलपुर, पूर्वी चंपारण, वैशाली, सीतामंढी और समस्तीपुर से मौतों के मामले सामने आये हैं.

इसे भी पढ़ेंःकुल्लू : गहरे नाले में गिरी बस, 44 की मौत, 34 घायल

advt

महामारी का रूप लेती चमकी बुखार

चमकी बुखार महामारी का रूप लेती जा रही है. मरने वालों में अधिकांश की आयु एक से सात वर्ष के बीच है. आमतौर पर इस बीमारी के शिकार गरीब परिवार के बच्चे होते हैं. डॉक्टरों के मुताबिक, इस बीमारी का मुख्य लक्षण तेज बुखार, उल्टी-दस्त, बेहोशी और शरीर के अंगों में रह-रहकर कंपन (चमकी) होना है.

उल्लेखनीय है कि हर साल गर्मी के मौसम में मुजफ्फरपुर क्षेत्र में इस बीमारी का कहर देखने को मिलता है. हालांकि, पिछले साल गर्मी कम होने के कारण इंसेफ्लाइटिस का प्रभाव कम देखा गया था. लेकिन इस साल इसका प्रभाव ज्यादा बढ़ गया है.

महामारी का रूप लेती इस बीमारी की जांच के लिए दिल्ली से आई नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल की टीम और पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) की टीम भी मुजफ्फरपुर का दौरा कर चुकी है. इस साल इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 136 तक पहुंच गयी है.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक: इच्छाओं को मारकर जीते हैं, दाल अगर बनी तो सब्जी नसीब नहीं

adv

इंसेफेलाइटिस से अब तक हुई मौत (विभागीय आंकड़ा)

साल भर्ती मौत
2010 59 24
2011 121
2012 336 120
2013 124 39
2014 701 90
2015 75 11
2016 31 04
2017 17 11
2018 14 7
2019 600 136

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button