JharkhandLead NewsRanchi

राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू को बड़ी राहत, निर्वाचन को चुनौती देनेवाली याचिका सुप्रीम कोर्ट से खारिज

Ranchi : कांग्रेस पार्टी के झारखंड से राज्यसभा सदस्य धीरज प्रसाद साहू के निर्वाचन को चुनौती देनेवाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है. इससे कांग्रेस सांसद धीरज साहू को राहत मिली है.

श्री साहू के निर्वाचन को भाजपा प्रत्याशी प्रदीप सोंथालिया ने चुनौती दी थी. झारखंड हाइकोर्ट में राज्यसभा सदस्य धीरज साहू के निर्वाचन को चुनौती देनेवाली याचिका पर सुनवाई हुई थी.

इसे भी पढ़ें : सचमुच के डॉक्टर और लाजवाब एक्टर डॉ श्रीराम लागू

Catalyst IAS
SIP abacus

प्रदीप सोंथालिया ने दायर की थी याचिका

Sanjeevani
MDLM

सुनवाई के दौरान धीरज साहू की ओर से अदालत को बताया गया था कि सिल्ली के तत्कालीन विधायक अमित महतो ने दिन में 9:30 बजे मतदान किया था. जबकि उन्हें 2:30 बजे सजा सुनायी गयी थी. मतदान के समय वे विधानसभा के सदस्य थे.

दूसरे पक्ष के अधिवक्ता ने अदालत को बताया था कि विधानसभा की ओर से जारी अधिसूचना में उनकी उसी दिन से सदस्यता समाप्त होने की बात कही गयी थी. धीरज साहू की तरफ से सर्वोच्च न्यायलय में वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंधवी ने पक्ष रखा.

इसे भी पढ़ें : पुलिस बहाली के दो अभ्यर्थियों की तबीयत बिगड़ी, सदर अस्पताल में भर्ती

2018 में हुआ था राज्यसभा चुनाव

साल 2018 में राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी प्रदीप सोंथालिया और कांग्रेस के प्रत्याशी धीरज साहू थे. इसमें धीरज साहू जीत गये थे. प्रदीप सोंथालिया ने उनके निर्वाचन को चुनौती देते हुए यह कहा था कि उनकी जीत गलत है.

सोंथालिया ने आरोप लगाया था कि जेएमएम के विधायक अमित महतो ने जिस दिन राज्यसभा चुनाव में जो मत दिया था, उसी दिन रांची सिविल कोर्ट से उन्हें सजा दी गयी थी. जिसके बाद उनकी सदस्यता समाप्त हो गयी थी. इसलिए अमित महतो के मत की गिनती नहीं की जानी चाहिए थी.

इसे भी पढ़ें : केंद्रीय सरकार और बंगाल गवर्मेंट में रस्साकशी, डीजीपी और मुख्य सचिव नहीं गये बैठक में दिल्ली

Related Articles

Back to top button