Lead NewsNational

यूक्रेन से लौटे भारतीय मेडिकल छात्रों को बड़ी राहत, NMC ने भारत में इंटर्नशिप करने को दी मंजूरी

New Delhi : रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को लगभग 10 दिन पूरे हो चुके हैं. ऐसे में यूक्रेन से भारतीय नागरिकों और छात्रों लौटने का सिलसिला जारी है. अब तक हजारों की तादाद में विद्यार्थी देश वापस आ चुके हैं. बता दें कि वापस आने वाले भारतीयों में ज्यादातर मेडिकल स्टूडेंट्स हैं, जो यूक्रेन एमबीबीएस की पढ़ाई करने गए थे. ऐसे में इन छात्रों के पास रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच भारत वापस आने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा है.

इसे भी पढ़ें : करार के बाद रार: कोल्‍हान व‍िश्‍ववि‍द्यालय ने फकीर मोहन विश्वविद्यालय को इस वजह से ल‍िखा पत्र, जान‍िए क्‍या है खास

एनएमसी ने जारी किया नोटिस

इस बीच राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ने यूक्रेन से भारतीय मेडिकल छात्रों की चल रही वापसी के बीच फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट्स को भारत में अपनी अनिवार्य 12 महीने की इंटर्नशिप को पूरा करने की अनुमति दे दी है.
आयोग द्वारा एक नोटिस जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि अगर स्टूडेंट्स फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट्स एफएमजीई परीक्षा (FMGE Exam) पास कर लेते हैं तो वो भारत में अधूरी रही अपनी इंटर्नशिप को पूरा कर सकते हैं. एनएमसी द्वारा ये नोटिस शुक्रवार को जारी की गई थी.

Sanjeevani

बता दें कि फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट परीक्षा को NeXT परीक्षा के रूप में भी जाना जाता है. ये एक एक्जिट परीक्षा है जिसे मेडिकल छात्रों को मेडिसिन में पोस्टग्रेजुएशन करने में सक्षम होने और भारत में मेडिसिन का अभ्यास करने के लिए लाइसेंस प्राप्त करने के योग्य बनने के लिए पास करना जरूरी होता है.

इसे भी पढ़ें : विधानसभा घेराव को तैयार आजसू पार्टी का दावा, राजशाही फरमान के बावजूद सड़कों पर उतरेंगे पार्टी कार्यकर्ता

इंटर्नशिप करने की अनुमति देने के लिए कोई शुल्क नहीं

आयोग ने जारी दिशा-निर्देशों में यह भी कहा है कि “मेडिकल कॉलेज द्वारा एफएमजी से उन्हें इंटर्नशिप करने की अनुमति देने के लिए कोई राशि / शुल्क नहीं लिया जाता है.” एफएमजी के लिए वजीफा और अन्य सुविधाएं भारतीय चिकित्सा स्नातकों को मिलने वाली राशि के अनुसार होंगी.

इसे भी पढ़ें : पुलिस हिरासत में लिए गए गिरिडीह जेल अधीक्षक राजमोहन राजन, दोस्त की बेटी पर बुरी नजर डालना पड़ा महंगा

Related Articles

Back to top button