न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ITAT से सुष्मिता को बड़ी राहत: Me Too केस में 95 लाख की सेटलमेंट राशि पर टैक्स नहीं

सुष्मिता सेन को मिले 95 लाख रुपये उनकी कमाई नहीं है बल्कि Capital Receipt- ITAT

71

New Delhi: बॉलीवुड की जानी-मानी एक्ट्रेस और पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन को बड़ी राहत मिली है. इनकम टैक्स विवादों का निपटारा करने वाली आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण (आईटीएटी) की बेंच ने 95 लाख के सेटलमेंट अमाउंट पर अदाकारा सेन से कोई टैक्स नहीं लेने की बात कही है. एक आदेश के अनुसार, सुष्मिता को यौन उत्पीड़न की शिकायत के बदले एक मिले सेटलमेंट राशि पर कोई टैक्स नहीं देना होगा.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के ODF का सच : 24 में मात्र 21 जिले ही हो सके हैं पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त

ज्ञात हो कि सुष्मिता सेन ने कोका कोला कंपनी के एक कार्मचारी पर सेक्सुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाया था. इस मामले के मुआवजे के रूप में 2003-04 के दौरान सुष्मिता सेन को 95 लाख रुपये मिले थे. पूर्व मिस यूनिवर्स का इस राशि पर टैक्स देने को लेकर विवाद हुआ था, जिसके बाद मामला आईटीएटी के पास गया, जहां से ट्रिब्यूनल ने सुष्मिता को राहत देते हुए उनके पक्ष में फैसला सुनाया. 14 नवंबर को ITAT ने अपने आदेश में कहा कि इनकम टैक्स कमाई पर लगता है, और सुष्मिता सेन को मिले 95 लाख रुपये उनकी कमाई नहीं है बल्कि Capital Receipt है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल, एक्ट्रेस सुष्मिता ने कोका कोला इंडिया के साथ उनके प्रोडक्ट्स के विज्ञापन के लिए 1.45 करोड़ रुपए का कमर्शियल कॉन्ट्रैक्ट किया था. लेकिन कंपनी ने समय के पहले ही इस कॉन्ट्रैक्ट को खत्म कर दिया था. जिसे लेकर एक्ट्रेस का विवाद हुआ. सुष्मिता ने आरोप लगाया था कि इस अनुबंध को खत्म करने का मतलब उन्हें सजा देना था, क्योंकि उन्होंने कंपनी के एक कर्मचारी पर यौन शोषण का आरोप लगाया था. सुष्मिता ने कोका-कोला और उनके अमेरिकी पार्टनरों को सेक्सुअल हैरेसमेंट के सभी परिणामों के लिए जिम्मेदार ठहराया था. बाद में उनके और कंपनी के बीच एक समझौता हुआ.

इसे भी पढ़ेंःन्यूजविंग ब्रेकिंग: मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को फिर एक्सटेंशन!

कंपनी ने समय से पहले यह कॉन्ट्रैरक्टट खत्म करने के मामले में सुष्मिता को 50 लाख रुपये की राशि मिली थी. इस पूरे मामले में समझौते की शर्तों के तहत उन्हें 1.45 करोड़ रुपये मिले, इस राशि पर सुष्मिता ने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में 50 लाख रुपये की पेशकश की थी. उन्होंने कहा था कि 95 लाख रुपये का शेष मुआवजे की प्रकृति में था, जिस पर टैक्स नहीं दिया जा सकता.

इसे भी पढ़ेंःपाकुड़ः डीसी के बॉडीगार्ड ने चेकिंग के दौरान ड्राइवर को जड़ा थप्पड़, एसपी ने किया सस्पेंड

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: