Court NewsLead NewsNational

BIG NEWS : ममता बनर्जी को सुप्रीम कोर्ट से झटका, भतीजे अभिषेक और पत्नी से ED की पूछताछ को मंजूरी

कोर्ट का निर्देश, यदि बंगाल में कोई जांच में बाधा डालता तो वह कोर्ट में आ सकता है कोर्ट

New Delhi : पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और उनकी पार्टी टीएमसी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. शीर्ष अदालत ने कोयला तस्करी के मामले में उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी और पत्नी रुजिरा बनर्जी से पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को अनुमति दे दी है.

जानकारी हो कि बंगाल सरकार की ओर से ईडी की पूछताछ का लगातार विरोध किया जा रहा था. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट का यह आदेश केंद्रीय एजेंसियों से टकराव के बीच बंगाल सरकार के लिए बड़े झटके की तरह है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड माइंस घोटाला: सीबीआई ने दो साल पहले आइएएस जयशंकर तिवारी पर मुकदमा चलाने की मांगी थी मंजूरी, दबी है फाइल

Chanakya IAS
Catalyst IAS
SIP abacus

अभिषेक बनर्जी ने की थी दिल्ली आने से छूट की मांग

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

अभिषेक बनर्जी ने सुप्रीम कोर्ट से मांग की थी कि उन्हें दिल्ली में ईडी के मुख्यालय आकर पूछताछ से छूट दी जाए. उनका कहना था कि बंगाल उनका गृह राज्य और वह वहीं पर मामले की जांच में सहयोग करना चाहता है.
इस पर सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल सरकार को आदेश दिया कि वह ईडी की जांच में सहयोग करे. इसके साथ ही ईडी को इस बात की परमिशन दी है कि यदि बंगाल में कोई जांच में बाधा डालता है या फिर अधिकारियों से बदसलूकी की जाती है तो वह कोर्ट में आ सकती है. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने ममता बनर्जी के परिजनों को थोड़ी राहत भी दी है.

इसे भी पढ़ें : घाटशिला में अज्ञात वाहन की चपेट में आकर बाइक सवार घायल

अभिषेक बनर्जी की पत्नी के खिलाफ वारंट पर लगाया स्टे

अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा के खिलाफ दिल्ली की एक अदालत ने जमानती वारंट जारी किया था, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने स्टे लगा दिया है. जांच एजेंसी की ओर से लगातार कई समन भेजे जाने का जवाब न मिलने के बाद यह समन जारी किया गया था.

इसे भी पढ़ें : पटना में फ्लैट की बालकनी में महिला का लटकता हुआ मिला शव, आक्रोश सड़क जाम व आगजनी

कोयला स्कैम से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में है रुजिरा का नाम

बंगाल कोयला स्कैम से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस के आरोपियों में रुजिरा बनर्जी का भी नाम शामिल है. गौरतलब है कि ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी में उनके भतीजे को दूसरे नंबर का नेता माना जाता है. ऐसे में ईडी की जांच में सहयोग करने का आदेश ममता बनर्जी के लिए झटका है. वह केंद्रीय जांच एजेंसियों पर बदले की कार्रवाई करने का आरोप लगाती रही हैं.

इसे भी पढ़ें :  केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने किया पुस्तकालय का उद्घाटन, पत्रिका ‘सीख‘ का विमोचन

Related Articles

Back to top button