Corona_UpdatesLead NewsNationalWorld

BIG NEWS : दक्षिण अफ्रीका में मिला नया ज्यादा खतरनाक कोरोना वैरियंट NeoCov, वुहान के वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी,  3 में से 1 मरीज की होगी मौत!

निओकोव वायरस चमगादड़ के अंदर देखा गया है और यह अभी केवल पशुओं में ही मिला है.

वुहान

कोरोना वायरस के सबसे पहले गढ़ चीन के वुहान शहर के वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि एक नया कोरोना वायरस ‘NeoCov’ दुनिया में दस्तकक दे चुका है. यह नया कोरोना वायरस बहुत ही ज्याकदा संक्रामक है और इससे संक्रमित प्रत्ये्क 3 में से 1 मरीज की मौत हो सकती है.

उन्हों ने कहा कि यह नया कोरोना दक्षिरण अफ्रीका में मिला है. हालांकि वैज्ञानिकों ने यह भी कहा कि यह नियोकोव कोरोना वायरस नया नहीं है. राहत की बात यह है कि नया कोरोना वायरस अभी इंसानों में नहीं फैला है.

इसे भी पढ़ें : ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन ने पुलिसिया बर्बरता के खिलाफ किश प्रदर्शन

मर्स कोव वायरस से जुड़ा है

रूसी न्यूवज एजेंसी स्पु तनिक की रिपोर्ट के मुताबिक यह नियोकोव कोरोना वायरस मर्स कोव वायरस से जुड़ा हुआ है. सबसे पहले साल 2012 और 2015 में पश्चिम एशिया के देशों में इसके प्रकोप का पता चला था. यह SARS-CoV-2 की तरह से जिससे इंसानों में कोरोना वायरस का संक्रमण होता है. दक्षिण अफ्रीका में अभी यह निओकोव वायरस चमगादड़ के अंदर देखा गया है और यह अभी केवल पशुओं में ही देखा गया है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड कांग्रेस के नये प्रभारी शनिवार को रांची आयेंगे, नेताओं से करेंगे बात, जानेंगे संगठन का हाल

नए कोरोना वायरस में मर्स और वर्तमान कोरोना वायरस के गुण

bioRxiv वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के मुताबिक NeoCoV और उसका नजदीकी सहयोगी PDF-2180-CoV इंसानों को संक्रमित कर सकता है. वुहान विश्वीविद्यालय और चाइन अकादमी ऑफ साइंसेज के शोधकर्ताओं के मुताबिक इस नए कोरोना वायरस के इंसानों की कोशिकाओं को संक्रमित करने के लिए केवल एक म्यूइटेशन की जरूरत है. शोध में कहा गया है कि NeoCoV वायरस में MERS की तरह से ही बहुत ज्या दा मरीजों की मौतें हो सकती हैं. यह आंकड़ा प्रत्येपक 3 में से 1 मरीज हो सकता है.

वहीं इस NeoCoV वायरस में वर्तमान SARS-CoV-2 कोरोना वायरस के गुण हैं जो उसे अत्यतधिक संक्रामक बनाता है. इस बारे में रूस के सरकारी वायरोलॉजी शोध केंद्र ने गुरुवार को एक बयान जारी करके कहा कि वेक्टेर शोध केंद्र चीनी शोधकर्ताओं द्वारा निओकोव कोरोना वायरस के जमा किए गए आंकड़े से परिचित है. वर्तमान समय में यह इंसानों को संक्रमित करने में सक्षम नहीं है. हालांकि इसके खतरे को देखते हुए और ज्या द अध्यकयन किए जाने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें : लूट की घटना को अंजाम देने के बाद जा पहुंचा डी-एक्डीक्शन सेंटर, सालभर बाद पकड़ाया 

Advt

Related Articles

Back to top button