Crime NewsLead NewsNationalSports

BIG NEWS : एथलीट दुती चंद पर अश्लील सामग्री प्रकाशित करने के आरोप में पत्रकार हिरासत में

कोर्ट में 5 करोड़ रुपये का मानहानि का मामला भी दायर किया था दुती चंद ने

Bhubaneswar : ओडिशा पुलिस ने एक स्थानीय समाचार पोर्टल के संपादक को कथित तौर पर ‘अपमानजनक अश्लील कंटेंट’ प्रकाशित करके एथलीट दुती चंद को बदनाम करने के आरोप में हिरासत में लिया है. भुवनेश्वर के डीसीपी उमाशंकर दास ने कहा, भुवनेश्वर की महिला पुलिस थाने ने शुक्रवार को संपादक सुधांशु राउत को दुती की शिकायत के बाद हिरासत में लिया.’ उन्होंने कहा, ‘दुती चंद की शिकायत के आधार पर राउत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. हमने मामले के संबंध में पूछताछ के लिए उन्हें हिरासत में लिया है.’
उन्होंने कहा कि दुती ने राउत के खिलाफ धमकी, मानहानि, चरित्र हनन करने संबंधित अन्य गंभीर आरोप लगाए हैं. दास ने कहा कि उनके खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

इसे भी पढ़ें :Tokyo Paralympics : शूटिंग में मनीष नरवाल ने गोल्ड और सिंहराज ने सिल्वर मेडल जीता

पोर्टल कार्यालय से कंप्यूटर जब्त

डीसीपी ने कहा कि महिला थाने के अधिकारियों ने समाचार पोर्टल कार्यालय की भी तलाशी ली है समाचार प्रकाशित करने के लिए इस्तेमाल किए जा रहे अन्य तत्वों के साथ कंप्यूटर जब्त किए हैं, इस मामले में पुलिस जांच अभी भी जारी है.

advt

इसे भी पढ़ें :औरंगाबाद में असामाजिक तत्वों ने प्लास्टिक दुकान में लगाई आग, 15 लाख का नुकसान

इन के खिलाफ की थी शिकायत

स्प्रिंटर दुती ने दो पत्रकार राउत उनकी रिपोर्टर स्मृति रंजन बेहरा एक सामाजिक कार्यकर्ता प्रदीप प्रधान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी कि उन्होंने टोक्यो ओलंपिक से पहले उनके खिलाफ आपत्तिजनक कंटेंट प्रकाशित किए थे, जिसका उनके प्रदर्शन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा. उन्होंने इस संबंध में भुवनेश्वर की सिविल कोर्ट में 5 करोड़ रुपये का मानहानि का मामला भी दायर किया था.

adv

इसे भी पढ़ें :हाजिरी रिम्स में, डूयटी मंत्री जी के आवास पर

टोक्यो ओलंपिक से पहले आपत्तिजनक कंटेंट प्रकाशित किए, प्रदर्शन पर पड़ा असर

दुती ने इस मामले पर तत्काल कार्रवाई करने के लिए पुलिस का धन्यवाद किया उम्मीद जताई कि जिन दो लोगों के खिलाफ उन्होंने आरोप लगाए थे, उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी. ‘मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया चरित्र हनन का सामना करना पड़ा था. इससे टोक्यो ओलंपिक के दौरान मेरे प्रदर्शन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा. उन्होंने मेरे चरित्र जेंडर को मुद्दा बनाया जो बहुत अरुचिकर था. व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है मुझे विश्वास है कि मुझे न्याय मिलेगा.’

इसे भी पढ़ें :आरोपः रांची डीसी ने आर्म्स लाइसेंस के लिए ली 2.20 लाख की रिश्वत, Amity University और CRY के नाम पर लिया चेक

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: