Education & CareerLead NewsNationalTOP SLIDER

BIG NEWS : CBSE 12th Exam Result की मूल्यांकन प्रक्रिया से जो विद्यार्थी संतुष्ट नहीं, उनके लिए 15 अगस्त से परीक्षा

केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में दी जानकारी

New Delhi : केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (CBSE) 15 अगस्त से 15 सितंबर तक आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर दिये गये अंकों से संतुष्ट नहीं होने वाले छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित करेगा. तिथियां अस्थायी हैं और देश भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की स्थिति पर निर्भर करेगी. सीबीएसई ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दायर हलफनामे में यह बात कही. ये परीक्षा के देश के सभी राज्यों में आयोजित की जायेगी.

सुप्रीम कोर्ट उन छात्रों के लिए कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा रद्द करने के मामले की सुनवाई कर रहा था, जो कंपार्टमेंटल परीक्षा, एनआईओएस और रिपीटर्स के लिए उपस्थित होंगे. इसके अलावा, यह भी निर्णय लिया गया कि नियमित मोड में छात्रों को एक अवसर प्रदान किया जायेगा जो मूल्यांकन से संतुष्ट नहीं हैं और लिखित परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं. जो छात्र परीक्षा में शामिल होंगे, उनके उस परीक्षा के अंक को ही अंतिम माना जायेगा.

इसे भी पढ़ें :एनएसयूआइ ने वीमेंस कॉलेज की प्राचार्या का किया घेराव, ज्ञापन सौंपा

पहले करना होगा ऑनलाइन पंजीकरण

जो लोग लिखित परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं, उन्हें पहले ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा. इस संबंध में सुविधा सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट – cbse.nic.in पर ऑनलाइन दी जायेगी. सीबीएसई ने पहले ही स्कूलों से परिणाम तैयार करने के लिए गणना प्रक्रिया शुरू करने को कहा है. बोर्ड ने प्रत्येक स्कूल से स्कूल के प्रिंसिपल की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय परिणाम समिति गठित करने को कहा है.

advt

से भी पढ़ें :27 को होनेवाला UPSC  सिविल सेवा प्रीलिमनरी एग्जाम स्थगित, जानें अब कब होगी परीक्षा 

अंक अपलोड करने के लिए पोर्टल हुआ सक्रिय

यह समिति आईटी टीमों की मदद से परिणाम तैयार करेगी और अपलोड करेगी. अंक अपलोड करने के लिए एक पोर्टल आज 21 जून को सक्रिय हो जायेगा. परिणाम 31 जुलाई तक जारी होंगे. सीबीएसई ने कक्षा 12 के छात्रों के मूल्यांकन के लिए विस्तृत मूल्यांकन योजना पहले ही जारी कर दी है. मूल्यांकन के लिए, बोर्ड 12 वीं की परीक्षाओं को अधिकतम वेटेज देगा जिसमें प्री-बोर्ड, यूनिट टेस्ट या मिड-टर्म शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :विशेषज्ञ पैनल ने कहा- स्कूल फिर से खोलने जरूरी, बच्चों का 2 लाख का बीमा कराये सरकार

प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए 20 अंक

इसमें 80 अंक होंगे और यह केवल सिद्धांत मूल्यांकन के लिए मानदंड होगा. प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए बोर्ड ने 20 अंक आवंटित किये हैं. जिन विषयों में थ्योरी 70 अंकों के लिए है, उनमें प्रैक्टिकल अंकों के लिए तदनुसार परिवर्तन किया जायेगा. इस साल कोई मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जायेगी. बोर्ड के परिणाम की गणना के संबंध में विवादों के मामले में बोर्ड द्वारा बनायी जाने वाली एक समिति निर्णय लेगी.

इसे भी पढ़ें :Ananya ने पिता Chunky Pandey के गाने ‘ओ लाल दुपट्टे वाली’ को किया रीक्रिएट, देखें Video

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: