BiharLead NewsNationalTOP SLIDER

BIG NEWS : बिहार हो जाएगा मालामाल, जानें किस जिले में मिला देश का सबसे बड़ा GOLD भंडार

Ad
advt

New Delhi : बिहार की गिनती अक्सर गरीब राज्यों में होती है. लेकिन बिहार के लिए खुशखबरी है. बिहार में ऐसा खजाना मिला है उसे पूरा राज्य मालामाल हो जाएगा. दरअसल बिहार के जमुई जिले में देश का सबसे बड़ा स्व र्ण भंडार मिला है. बताया जा रहा है कि इस खदान में सोने की इतनी मात्रा है, जितना देश में कहीं और नहीं है. यह जानकारी केंद्रीय खनन मंत्री प्रहलाद जोशी ने संसद में दी है.

दरअसल बिहार बीजेपी के अध्यंक्ष और लोकसभा सदस्यज संजय जायसवाल ने शीतकालीन सत्र के दौरान इस संबंध में केंद्र सरकार से जानकारी मांगी थी.

advt

उन्हों ने सवाल पूछा कि कि क्या वाकई देश में सबसे बड़ा स्व्र्ण भंडार बिहार में है? इसके जवाब में खान, कोयला एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस बात की पुष्टि की.

इसे भी पढ़ें:ईशनिंदा के लिए पाकिस्तान में श्रीलंकाई नागरिक के हाथ-पैर तोड़कर जिंदा जला दिया

advt

222.885 मिलियन टन स्वर्ण धातु से संपन्न भंडार

केंद्रीय खान, कोयला एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने एक चिट्ठी के जरिए बताया कि ‘देश में कुल 501.83 टन का प्राथमिक स्वपर्ण अयस्कक भंडार है, जिसमें 654.74 टन सोना है.

इसमें 44 फीसदी सोना केवल बिहार में पाया गया है. प्रदेश के जमुई जिले के सोना क्षेत्र में 37.6 टन धातु अयस्की सहित 222.885 मिलियन टन स्वकर्ण धातु से संपन्नक भंडार मिला है.’

इसे भी पढ़ें:एक हफ्ते में गिफ्ट डीड की जमीन से हटा लें कब्जा, रांची नगर निगम करेगा कार्रवाई

इसके बाद राजस्थान में 25 फीसदी, कर्नाटक में, 21 फीसदी पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में 3 फीसदी और झारखंड में 2 फीसदी भंडार है. जमुई के सोना क्षेत्र में 37.6 टन धातु अयस्कद सहित 222.885 मिलियन टन स्व र्ण धातु से संपन्नन भंडार मिला है.

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने पश्चिम चंपारण और गया के कुछ हिस्सोंर में स्वार्ण भंडार को लेकर सर्वे किया है और यह पिछले पांच साल के दौरान संयुक्तस राष्ट्रे फ्रेमवर्क वर्गीकरण की निगरानी के तहत हुआ है.

इसे भी पढ़ें:9 दिसंबर को कंप्यूटर बेस्ड होगी झारखंड कंबाइंड परीक्षा

लेकिन इन इलाकों में फिलहाल किसी भी खनिज भंडार का पता नहीं चला है. लेकिन जुमई में यह भंडार भरा पड़ा हुआ है.

केंद्र ने सोने सहित अन्य धातुओं की खुदाई से संबंधित नियमों में संशोधन किया है, जिससे सोने समेत अन्य धातुओं के लिए जी-4 स्तर के लाइसेंस की नीलामी की जा सके. इसके बाद सोने को निकालने में लागत कम होने की उम्मीद जताई जा रही है.

नेशनल मिनरल इंवेंटरी डाटा के मुताबिक देश में 1 अप्रैल 2015 तक स्वर्ण अयस्क का कुल भंडार 50.183 करोड़ टन है, जिसमें से 1.722 करोड़ टन सुरक्षित और शेष संसाधनों की कैटेगरी में हैं.

इसे भी पढ़ें:100 करोड़ क्लब के साथ Suniel Shetty की धमाकेदार वापसी, ‘Marakkar’ का बॉक्स ऑफिस पर धमाका

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: