BusinessLead NewsNationalTOP SLIDER

BIG NEWS : एक जून से महंगा होगा हवाई सफर, जानिये कितने का होगा इजाफा

जानिये सात प्राइस बैंड में कितने रुपये अधिक चुकाने पड़ेंगे आपको

New Delhi : महंगाई की मार से जनता पहले ही परेशान है और अब हवाई सफर फिर से महंगा होने जा रहा है. सरकार ने एक जून 2021 से घरेलू हवाई किराए में बढ़ोतरी का फैसला किया है. सरकार ने हवाई किराए की निचली सीमा में 13 से 16 फीसदी बढ़ोतरी की है.

इसे भी पढ़ें:IPL 2021: UAE में होंगे बाकी मैच, हो गया कन्फर्म

इसलिए की गई बढ़ोतरी

SIP abacus

दरअसल देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर से हवाई यात्रियों की संख्या में भारी कमी आई है. इससे एयरलाइन कंपनियों की आय काफी कम हुई है. ऐसे में विमानन कंपनियों की मदद के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है. हालांकि, हवाई किराए की ऊंची सीमा को पूर्ववत रखा गया है.

Sanjeevani
MDLM

इसे भी पढ़ें:AIIMS INI CET 2021 के लिए रिवाइज्ड शेड्यूल जारी

यात्रा के समय पर आधारित हैं 7 प्राइस बैंड

हवाई उड़ान अवधि के आधार पर हवाई यात्रा किराए की निचली और ऊंची सीमा तय की गई है. मई 2020 में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने घरेलू विमानों को सात श्रेणियों में बांट दिया था. ये सात प्राइस बैंड यात्रा के समय पर आधारित हैं. इसके तहत 40 मिनट तक की यात्रा, 40-60 मिनट, 60-90 मिनट, 90-120 मिनट, 120-150 मिनट, 150-180 मिनट, 180-210 मिनट की यात्रा अवधि के आधार पर किराए तय किए गए थे.

इसे भी पढ़ें:कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच को लेकर चीन पर दबाव बढ़ा

अब नया प्राइस बैंड ये होगा:

  • 40 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 2600 से 7800 रुपये है.
  • 40 से 60 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 3300 से 7800 रुपये है.
  • 60 से 90 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 4000 से 11700 रुपये है.
  • 90 से 120 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 4700 से 13000 रुपये है.
  • 120 से 150 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 6100 से 16900 रुपये है.
  • 150 से 180 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 7400 से 20400 रुपये है.
  • 180 से 210 मिनट तक की यात्रा के लिए प्राइस बैंड 8700 से 24200 रुपये है.

इसे भी पढ़ें :WTC Final में कुछ इस तरह से दिखेगी टीम इंडिया

अप्रैल में भी महंगा हुआ था किराया

अप्रैल 2021 से सरकार ने विमान यात्रियों से अधिक विमानन सुरक्षा शुल्क (एएसएफ) वसूलने का फैसला लिया था. नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए विमानन सुरक्षा शुल्क में क्रमश: 40 रुपये और 114.38 रुपये का इजाफा किया था. एक अप्रैल से घरेलू यात्रियों के लिए विमानन सुरक्षा शुल्क 200 रुपये हो गया. जबकि पहले यह 160 रुपये था.

मालूम हो कि विमानन कंपनियां टिकट की बुकिंग के वक्त एएसएफ वसूल कर सरकार को जमा कराती हैं. इस राशि का इस्तेमाल पूरे देश के हवाईअड्डों की सुरक्षा व्यवस्था पर किया जाता है.

इसे भी पढ़ें :राज्य के 32 लाख से अधिक स्टूडेंट्स के खाते में सीधा जायेगा मिड डे मील का पैसा

Related Articles

Back to top button