Lead NewsNationalTOP SLIDER

BIG NEWS : गृह राज्यमंत्री अजय कुमार टेनी को ब्लैकमेल करने की कोशिश में 5 गिरफ्तार

New Delhi : गृह राज्यमंत्री अजय कुमार टेनी (Ajay Kumar Teni) एक बार फिर से सुर्खियों में हैं, लेकिन इस बार मामला थोड़ा अलग है. बताया जा रहा है कि अजय कुमार टेनी को ब्लैकमेल करने की कोशिश की गई है. इस मामले में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है.

इसे भी पढ़ें:विमान किराये में आई भारी कमी, ट्रेन से सस्ता हुआ हवाई सफर; जानें किस रूट पर कितना कम हुआ किराया

क्या है मामला

Catalyst IAS
ram janam hospital

पांचों आरोपियों के नाम अमित काला, अश्विन, अमित, संदीप और निशांत हैं. सूत्रों के मुताबिक, गिरफ्तार पांचों आरोपी टेनी को लखीमपुर खीरी मामले में उनके खिलाफ कुछ वीडियो और सबूत होने का दावा कर करोड़ो रुपये की डिमांड कर रहे थे.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

17 दिसंबर को इस बारे में अजय कुमार टेनी ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय में जानकारी दी थी. इसके बाद सीपी दिल्ली पुलिस की निगरानी में जांच नार्थ एवेन्यू थाने में शुरू की गई. 5 लड़कों को इसमें गिरफ्तार किया गया है जो कि बीपीओ (BPO) में काम करते हैं. ये सभी लड़के दिल्ली और नोएडा से गिरफ्तार किए गए हैं.

बता दें कि यूपी के लखीमपुर खीरी जिले (Lakhimpur Kheri) में किसानों को कार से कुचलने के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा का नाम आया था. इसके बाद से इस घटनाक्रम पर गृह राज्यमंत्री अजय कुमार टेनी कई बार अपने बेटे का बचाव करते देखे गए हैं.

इसे भी पढ़ें:रिलीज होते ही इंटरनेट पर LEAK हुई रणवीर सिंह की 83, करोड़ों रुपये का हो सकता है नुकसान

बेटे को बचाने का आरोप लगा

वहीं अभी हाल ही में लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर राज्यसभा और लोकसभा में विपक्ष ने सरकार पर जमकर निशाना था. विपक्ष ने सरकार पर गृह राज्यमंत्री के बेटे को बचाने का आरोप लगाया था. वहीं गृह राज्यमंत्री अजय कुमार टेनी के इस्तीफे की मांग कर रहा था .

बता दें कि अजय मिश्रा लखीमपुर खीरी के निघासन इलाके से ताल्लुक रखते हैं और वो भी एक किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं. अजय मिश्रा का लखीमपुर खीरी, सीतापुर और आसपास के जिलों में अच्छा खासा प्रभाव है.

इसे भी पढ़ें:Jharkhand : सरकार ने माना राज्य में महिलाओं के खिलाफ बढ़े हैं हिंसा के आंकड़े

Related Articles

Back to top button