Lead NewsNationalTOP SLIDER

BIG NEWS : kingfisher बीयर बनानेवाली UB और कार्ल्सबर्ग सहित कई कंपनियों पर ₹900 करोड़ जुर्माना, जानें वजह

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने ऑल इंडिया ब्रुअर्स एसोसिएशन व अन्य पर लगाया है फाइन

New Delhi : भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने बीयर की बिक्री व आपूर्ति को लेकर 2009 से अक्टूबर 2018 तक सांठगांठ करने के मामले में शुक्रवार को यूनाइटेड ब्रुअरीज़ (यूबी), कार्ल्सबर्ग इंडिया, ऑल इंडिया ब्रुअर्स एसोसिएशन व अन्य पर ₹900 करोड़ जुर्माना लगाने का आदेश दिया. वहीं, मामले में सहयोग के लिए सैबमिलर इंडिया (अब एन्ह्यूज़र-बुश इनबेव इंडिया) को जुर्माने में 100% रियायत मिली.

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने 24 सितंबर को बियर बनाने वाली तीन कंपनियों के साथ-साथ उनके व्यापार संघ ऑल इंडिया ब्रूअर्स एसोसिएशन (AIBA) पर कार्टेलाइज़ेशन के लिए लगभग 900 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है.

advt

एंटीट्रस्ट बॉडी ने एक बयान में कहा कि एसएबीमिलर इंडिया (फोस्टर बीयर के निर्माता), यूनाइटेड ब्रेवरीज (किंगफिशर बीयर के निर्माता) और कार्ल्सबर्ग इंडिया 2009 से 2018 तक भारत के विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बीयर की बिक्री और आपूर्ति में शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :रघुवर दास ने की नगर आयुक्त से बात, बिरसा नगर में 10 दिनों के भीतर लाभुकों को पीएम आवास का किया जायेगा आवंटन

adv

सबमिलर इंडिया को जुर्माने में दी गयी छूट

सीसीआई ने जहां यूनाइटेड ब्रेवरीज और कार्ल्सबर्ग इंडिया को क्रमश: 750 करोड़ रुपये और 120 करोड़ रुपये का जुर्माना भरने का निर्देश दिया है, वहीं जांच में सहयोग करने पर सबमिलर इंडिया को जुर्माने में 100 फीसदी की कमी दी है. SABMiller India को अब Anheuser Busch InBev India के नाम से जाना जाता है.

इसे भी पढ़ें :ऑनलाइन मार्केटिंग के पीछे का खेल

तीनों कंपनियां ओडिशा और बंगाल आपूर्ति कर रही थीं प्रतिबंधित

तीनों कंपनियां सामूहिक रूप से महाराष्ट्र, ओडिशा और पश्चिम बंगाल को बीयर की आपूर्ति को प्रतिबंधित कर रही थीं. बेंगलुरु में प्रीमियम संस्थानों को बीयर की आपूर्ति के संबंध में भी समन्वय कर रही थीं.

इसे भी पढ़ें :जातीय जनगणना पर गृह मंत्री से 26 सितंबर को हेमंत सोरेन करेंगे मुलाकात, भाजपा का मिला साथ

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: