Lead NewsNationalTOP SLIDER

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक, एयरपोर्ट तक जिंदा पहुंच पाया, इसके लिए अपने CM को थैंक्स कहना-पीएम मोदी

New Delhi: पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर रैली रद्द होने की वजह सुरक्षा में चूक को बातयी जा रही है. गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से इसकी रिपोर्ट तलब की है. मंत्रालय ने अपने स्टेटमेंट में कहा कि पंजाब दौरे पर प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक सामने आयी है. उनका काफिला एक फ्लाई ओवर में करीब 15-20 मिनट तक रुका रहा. जो एक बड़ी लापरवाही है.

रैली रद्द होने के बाद जब नरेंद्र मोदी बठिंडा एयरपोर्ट वापस पहुंचे तो उन्होंने भी पंजाब की कांग्रेस सरकार पर तंज कसा. मोदी ने एयरपोर्ट के अधिकारियों से कहा- अपने मुख्यमंत्री को मेरा शुक्रिया कहना कि मैं बठिंडा एयरपोर्ट तक जिंदा पहुंच सका.

इसे भी पढ़ें:झारखंड कैडर के आइएएस अधिकारियों का नये सिरे से वेतनमान मैट्रिक्स निर्धारित

ram janam hospital
Catalyst IAS

भाजपा ने कहा कि प्रधानमंत्री का कार्यक्रम रद्द होना कांग्रेस की साजिश है. उधर किसानों ने दावा किया है कि रैली रद्द होने की वजह किसानों का विरोध और पंजाबियों में मोदी की अस्वीकार्यता है. इससे पहले बताया जा रहा था कि खराब मौसम या कोरोना की वजह से मोदी की रैली को रद्द किया गया है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रैली रद्द होने के बाद कई ट्वीट किए. लिखा- पंजाब की कांग्रेस सरकार विकास विरोधी है और उसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की भी कद्र नहीं है.

जो सबसे ज्यादा परेशानी वाली बात थी, वो थी प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक का मसला. प्रदर्शनकारियों को पीएम के रूट में घुसने की इजाजत दी गयी. जबकि पंजाब के मुख्य सचिव और डीजीपी ने SPG को भरोसा दिया था कि रास्ता सुरक्षित है.

इसे भी पढ़ें:राशनकार्ड में फर्जी तरीके से नाम जुड़वा कर राशन उठाव करनेवाले 20 लोगों से होगी राशि की वसूली, भेजा गया नोटिस

मसला सुलझे या इस मुद्दे पर कोई बात हो पाए इसके लिए पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी ने फोन भी नहीं उठाया.
गृह मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बठिंडा उतरने के बाद खराब मौसम की वजह से 20 मिनट इंतजार करने के बाद वे सड़क के जरिए राष्ट्रीय शहीद स्मारक तक गये. इसमें उन्हें 2 घंटे से ज्यादा का वक्त लगना था.

पंजाब के डीजीपी ने भरोसा दिलाया, इसके बाद उनका काफिला आगे बढ़ा. हुसैनीवाला में शहीद स्मारक के 30 किलोमीटर पहले उनका काफिला एक फ्लाई ओवर पर पहुंचा, जहां प्रदर्शनकारियों ने रोड ब्लॉक कर रखी थी. मोदी यहां पर 15-20 मिनट तक फंसे रहे. यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक है.

इसे भी पढ़ें:विधायक समरी लाल को सांस लेने में हो रही थी तकलीफ, रिम्स में भर्ती

Related Articles

Back to top button