Lead NewsNational

किसान आंदोलन का समाधान निकालने के लिए बनी समिति से भूपिंदर सिंह मान ने नाम लिया वापस

सुप्रीम कोर्ट ने गठित की थी चार सदस्यीय कमेटी

विज्ञापन

New delhi : सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा किसान आंदोलन (Kisan Andolan) का समाधान निकालने के लिए गठित की गयी चार सदस्यीeय कमेटी में शामिल भूपिंदर सिंह मान (अध्यक्ष बेकीयू) ने इस समिति से खुद का नाम वापस ले लिया है.

इस संबंध में भारतीय किसान यूनियन ने प्रेस स्टेेटमेंट जारी किया गया है. इसमें भूपिंदर सिंह मान की तरफ से कहा गया कि ‘केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों पर किसान यूनियनों के साथ बातचीत करने के लिए मुझे 4 सदस्यीय समिति में नामित करने को लेकर मैं माननीय सर्वोच्च न्यायालय का आभारी हूं.

एक किसान और स्वयं एक यूनियन नेता के रूप में, किसान संघों और आम जनता के बीच भावनाओं और आशंकाओं को देखते हुए मैं पंजाब या किसानों के हितों से समझौता नहीं करने के लिए किसी भी पद को छोड़ने के लिए तैयार हूं. मैं खुद को समिति से हटा रहा हूं और मैं हमेशा अपने किसानों और पंजाब के साथ खड़ा रहूंगा’. राज्यिसभा सांसद सरदार भूपिंदर सिंह मान बीकेयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अखिल भारतीय किसान समन्वय समिति के अध्यक्ष भी हैं.


इसे भी पढ़ें :अमेरिका के इतिहास में पहली बार किसी राष्ट्रपति के लिए दूसरी बार महाभियोग

कमेटी में डॉ प्रमोद कुमार जोशी, अशोक गुलाटी और अनिल धनवट हैं शामिल

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में विवाद के समाधान के लिए एक चार सदस्यीदय कमेटी बनाई है. इस कमेटी में भूपिंदर सिंह मान के अलावा डॉ प्रमोद कुमार जोशी (अंतर्राष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान), अशोक गुलाटी (कृषि अर्थशास्त्री) और अनिल धनवट (शिवकेरी संगठन, महाराष्ट्र) हैं.

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: