Crime NewsHazaribaghJharkhand

बुकरू और फुलवसिया रेलवे साइडिंग में वर्चस्व जमाने के लिए भोला पांडेय के गुर्गे ने की थी टीपीसी सदस्य नरेंद्र सिंह की हत्या

विज्ञापन

Hazaribagh. बुकरू और फुलवसिया रेलवे कोयला साइडिंग में वर्चस्व जमाने के लिए भोला पांडेय के गुर्गे ने टीपीसी सदस्य नरेंद्र सिंह की हत्या की थी. गौरतलब है कि बीते 15 सितंबर को केरेडारी थाना क्षेत्र के झुमरी टांड़ तीन मुहान जंगल में टीपीसी सदस्य नरेंद्र सिंह उर्फ दारा की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. केरेडारी और लातेहार जिला के बालूमाथ थाना पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए इस मामले का खुलासा किया है. पुलिस ने तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया है. वहीं इस मामले का मास्टरमाइंड अमरेश राणा अब भी फरार है.

रेलवे साइडिंग में वर्चस्व के लिए बाधा बन रहा था नरेंद्र सिंह

जानकारी के अनुसार, मृतक नरेंद्र सिंह टीपीसी में काम करता था. लेकिन जेल से छूटने पर घर में ही रह रहा था. भोला पांडेय के गुर्गे संजय, आनंद और विनोद जो विकास साव के नेतृत्व में काम कर रहा था. बालूमाथ के बुकरू रेलवे साइडिंग और फुलवसिया साइडिंग में कोयला रेक में अपना वर्चस्व बनाना चाहता था. लेकिन नरेंद्र सिंह बीच में बाधा बन रहा था. इसी को लेकर एक साजिश के तहत टीपीसी के सदस्य नरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई.

घटना का मास्टरमाइंड है फरार

बता दें कि 15 सितंबर, 2020 को नरेंद्र सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में मृतक के भाई सत्येंद्र प्रसाद सिंह के आवेदन पर मामला केरेडारी थाना में दर्ज कराया गया था. इस मामले में अमरेश राणा समेत अन्य को नामजद आरोपी बनाया गया था. पुलिस ने भोला पांडेय के गुर्गे संजय साव, आनंद राणा और विनोद कुमार को गिरफ्तार कर बालूमाथ से जेल भेज दिया जबकि घटना का मास्टरमाइंड अमरेश राणा फरार है.

advt

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button