National

#Bhima_Koregaon_Violence : CM उद्धव ठाकरे ने गृहमंत्री देशमुख का फैसला दरकिनार किया, होगी NIA जांच, शरद पवार नाराज 

 Mumbai : महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के विरोध के बावजूद CM उद्धव ठाकरे ने कोरेगांव-भीमा हिंसा मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA) से कराने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री द्वारा गृह मंत्री का निर्णय पलटने पर गृह मंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार को पत्रकारों से कहा कि मेरी निर्णय को मुख्यमंत्री को पलटने का अधिकार है.

इसे भी पढ़ें : #PulwamaAttack: राहुल ने मोदी सरकार को घेरा, पूछा- किसे हुआ हमले का फायदा, जांच में क्या निकला

मैंने बतौर गृहमंत्री आपत्ति जताई थी

देशमुख ने कहा कि भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले की राज्य की पुलिस कर रही थी, परंतु अचानक ही केंद्र सरकार ने NIA से जांच कराने का निर्णय लिया. इस पर मैंने बतौर गृहमंत्री आपत्ति जताई थी. मेरा मानना है कि कोरेगांव-भीमा हिंसा मामले की जांच NIA को सौंपने पहले राज्य सरकार को विश्वास में लेना चाहिए था, लेकिन केंद्र सरकार ने कोई जानकारी नहीं दी.

इसे भी पढ़ें :  #PulwamaAttack: राहुल के बयान पर BJP का पलटवार, कहा- गांधी परिवार फायदे के अलावा और कुछ सोच ही नहीं सकता

NIA जांच करती है तो यह राज्य के अधिकार में हस्तक्षेप होगा

जान लें कि उद्धव ठाकरे के इस फैसले पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार ने नाराजगी व्यक्त की है. पवार ने कोल्हापुर में कहा कि महाराष्ट्र में कानून और व्यवस्था की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है. ऐसे अगर इस मामले में NIA जांच करती है तो यह राज्य के अधिकार में हस्तक्षेप होगा और उनके हाथ में जांच सौंपना महाराष्ट्र के लिए सही नहीं है.

भीमा-कोरगांव हिंसा मामले आज पुणे कोर्ट का फैसला आनेवाला है. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसआर नवांदर ने पिछले सप्ताह इसपर सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था.

मुंबई शाहीन बाग प्रदर्शन खत्म करने का आग्रह

दिल्ली की तर्ज पर CAA और NRC के खिलाफ मुंबई में भी विरोध प्रदर्शन नागपाड़ा इलाके में जारी है. धरना प्रदर्शन करने वालों ने गुरुवार को गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात की. इस मुलाकात के बारे में देशमुख ने बताया कि 18 दिन से महिलाएं बिना अनुमति के धरने पर बैठी हैं। उन पर 149 के तहत मामला भी दर्ज किया है.

उन सभी से पहले आंदोलन खत्म करने के लिए कहा गया है. उसके बाद ही 149 का दर्ज मामला वापस लेने पर विचार किया जा सकता है. देशमुख ने कहा कि उन्होंने मुस्लिम महिलाओं से आंदोलन खत्म करने का आग्रह किया गया है. गृहमंत्री देखमुख से मिलने से पहले प्रदर्शन करने वालों ने बांद्रा स्थित आवास मातोश्री जाकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की.

इसे भी पढ़ें : #Revenue_Dues पर सरकार और टेलिकॉम कंपनियों को सुप्रीम कोर्ट की फटकार,  17 मार्च को कोर्ट में तलब किया  

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close