Lead NewsNationalWest Bengal

भवानीपुर संग्राम की बिछी बिसात : ममता बनर्जी ने भरा पर्चा, बीजेपी ने प्रियंका टिबड़ेवाल को उतारा

किसी सीनियर नेता को उतारने की जगह बीजेपी ने खेला महिला कार्ड

Kolkata : पश्चिम बंगाल की भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव की बिसात बिछ गई है. एक तरफ टीएमसी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को भवानीपुर में पर्चा दाखिल किया है तो वहीं बीजेपी ने उनके मुकाबले प्रियंका टिबरीवाल को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है. इस सीट से बीजेपी की ओर से से किसी सीनियर नेता को उतारे जाने के कयास भी लग रहे थे, लेकिन पार्टी ने महिला कार्ड पर ही भरोसा किया.

इसे भी पढ़ें :Bihar News: पीएमसीएच में डॉक्टर की जगह ट्रॉली मैन कर रहे इलाज

ममता के लिए उपचुनाव बेहद अहम

यह उपचुनाव ममता बनर्जी की साख और सीएम पद पर बने रहने के लिए बेहद अहम है. मई में आए विधानसभा चुनाव के नतीजों में उन्हें नंदीग्राम सीट पर हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद भी वह सीएम बनी थीं. ऐसे में उनके लिए सीएम बनने के 6 महीने के भीतर विधायक बनना जरूरी है. इसलिए भवानीपुर का चुनाव ममता बनर्जी के लिए बेहद अहम माना जा रहा है.

advt

इसे भी पढ़ें :तेजस्वी का नोट बांटते वीडियो वायरल, JDU ने कहा शर्म कर लो बबुआ

ये हैं तीनों सीटों से बीजेपी के उम्मीदवार

बीजेपी ने एक ट्वीट के जरिए ये जानकारी दी है. इसमें टिबरीवाल के अलावा जंगीपुर से सुजीत दास और समरेसगंज से मिलन घोष की उम्मीदवारी की घोषणा भी की गई है.

 

 

इसे भी पढ़ें :इरफान अंसारी ने जिसे ब्राह्मण बताकर विधानसभा लाया वो महेंद्र राम है और कांग्रेस कार्यकर्ता है

कौन हैं प्रियंका टिबरीवाल?

भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो की कानूनी सलाहकार रहीं प्रियंका टिबरीवाल ने अगस्त 2014 में बीजेपी का दामन थामा था. उनके बारे में कहा जाता है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरित हैं और उन्हें राजनीति में अपना आदर्श मानती हैं.

नेता से राजनेता बने भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो की सलाह के बाद ही प्रियंका भाजपा में शामिल हुई थीं. 2015 में प्रियंका टिबरीवाल ने भाजपा उम्मीदवार के रूप में वार्ड संख्या 58 (एंटली) से कोलकाता नगर परिषद का चुनाव लड़ा था, मगर तृणमूल कांग्रेस के स्वपन समदार से हार गईं थीं. भाजपा में अपने छह साल के कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण कार्यों को संभाला और अगस्त 2020 में उन्हें पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता युवा मोर्चा का उपाध्यक्ष बनाया गया.

हालांकि, 2021 में उन्होंने एंटली से विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन टीएमसी के स्वर्ण कमल साहा से 58,257 मतों के अंतर से हार गईं. टिबरीवाल का जन्म 7 जुलाई 1981 को कोलकाता में हुआ था. उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा वेलैंड गॉल्डस्मिथ स्कूल से की और दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई की. उसके बाद उन्होंने 2007 में हाज़रा लॉ कॉलेज से कानून की डिग्री हासिल की, जो कि कलकत्ता विश्वविद्यालय के अधीन है. उन्होंने थाईलैंड से एमबीए भी किया है.

इसे भी पढ़ें :शहर में बेलगाम घूम रहे अपराधी, लगातार दूसरे दिन तड़तड़ाई गोलियां, आजादनगर में कंस्ट्रशन साइट पर फायरिंग

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: